Bookmark and Share
अत्यंत आपत्तिजनक है चंद्रशेखर राव की मीडिया की 'गर्दन तोड़ने' वाली टिप्पणी: काटजू Print
User Rating: / 0
PoorBest 
Thursday, 11 September 2014 16:08


नई दिल्ली। भारतीय प्रेस परिषद के अध्यक्ष न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) मार्कंडेय काटजू ने मीडिया पर तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की कथित टिप्पणियों को आज ‘‘अत्यधिक आपत्तिजनक और लोकतंत्र में पूर्ण रूप से अस्वीकार्य’’ करार दिया ।


    उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश ने एक बयान में कहा कि ऐसी खबर है कि राव ने हाल में एक क्षेत्रीय तेलुगू टीवी चैनल द्वारा कुछ विधायकों के खिलाफ की गई कथित अपमानजनक टिप्पणियों के जवाब में कहा था कि वह मीडिया की गर्दन तोड़ देंगे और 10 किलोमीटर नीचे दफना देंगे ।

    काटजू ने कहा कि यदि टीवी चैनल ने असल में इस तरह की टिप्पणियां की हैं तो वे अनुचित हैं और मीडिया को इस तरह की टिप्पणियों से बचना चाहिए ।

   परिषद के अध्यक्ष ने कहा कि हालांकि, उन्हें सूचना मिली है कि कथित आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाला टीवी चैनल डीटीएच के जरिए अपने टीवी पर इसके लिए बार...बार माफी मांग चुका है और तेलंगाना विधानसभा के अध्यक्ष तथा विधायकों को पत्र लिखकर भी उसने माफी मांगी है ।

   काटजू ने कहा, ‘‘हालांकि, ऐसी खबर है कि टीवी चैनल की इन टिप्पणियों की प्रतिक्रिया में तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने एक सार्वजनिक मंच से कहा कि यदि कोई तेलंगाना के आत्मसम्मान, इसकी विधानसभा या इसकी संस्कृति को नीचा दिखाने या आहत करने की कोशिश करता है, तो वह मीडिया की गर्दन तोड़ देंगे और 10 किलोमीटर नीचे दफना देंगे । ’’

    उन्होंने पूछा, ‘‘यह किस तरह की भाषा


है ?’’

 काटजू ने कहा कि मीडिया के लिए मुख्यमंत्री द्वारा इस्तेमाल की गई भाषा ‘‘अत्यधिक आक्रामक, पूरी तरह अवांछित तथा अत्यंत अनुचित’’ है ।

    उन्होंने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री का यह बयान, मेरे मत से अत्यंत अनुचित, अत्यधिक आपत्तिजनक और लोकतंत्र में पूरी तरह अस्वीकार्य है, खासकर तब जब यह किसी ऐसे व्यक्ति ने दिया हो जो उच्च संवैधानिक पद पर बैठा है ।’’

    काटजू ने कहा कि भारतीय पत्रकार संघ :आईजेयू: और इससे संबद्ध तेलंगाना श्रमजीवी पत्रकार संघ ने उन्हें ‘‘तेलंगाना के मुख्यमंत्री की धमकियों की आलोचना करते हुए’’ अपने द्वारा जारी एक बयान भेजा था ।

    उन्होंने कहा कि उन्हें सूचित किया गया है कि केबल आॅपरेटर्स एसोसिएशंस ने तेलंगाना सरकार के दबाव में केबल आॅपरेटरों के जरिए दो टीवी चैनलों टीवी 9 और एबीएन आंध्र ज्योति :हालांकि एबीएन आंध्र ज्योति ने इस तरह की अपमानजनक टिप्पणी या तेलंगाना के विधायकों के खिलाफ किसी आपत्तिजनक टिप्पणी का प्रसारण नहीं किया था: का प्रसारण निलंबित कर दिया है ।

    काटजू ने कहा, ‘‘मैं तेलंगाना के मुख्यमंत्री और केबल आपरेटर्स एसोसियेशंस का आह्वान करता हूं कि वे निलंबन आदेश तत्काल वापस लें, ताकि उक्त दोनों टीवी चैनल फिर से संचालन शुरू कर सकें । ’’

    उन्होंने कहा कि संविधान में मीडिया की स्वतंत्रता की गारंटी दी गई है, और इसे इस तरह नहीं दबाया जा सकता ।

(भाषा)


आपके विचार