Bookmark and Share
धोनी ने अश्विन को बल्लेबाजी क्रम में ऊपर भेजने का बचाव किया Print
User Rating: / 0
PoorBest 
Tuesday, 13 May 2014 21:15

altरांची। महेंद्र सिंह धोनी ने बल्लेबाजी क्रम में रविचंद्रन अश्विन को खुद से ऊपर

भेजकर अपने फैसले से कई लोगों को सकते में डाल दिया लेकिन चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान ने इस रणनीति का बचाव करते हुए कहा कि खिलाड़ियों को मैच विजेता में बदलने के लिए उन्हें अधिक जिम्मेदारी दिए जाने की जरूरत है।

राजस्थान रॉयल्स के 149 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए धोनी ने अपने और रविंद्र जडेजा से पहले अश्विन को बल्लेबाजी क्रम में पांचवें स्थान पर भेजा। अश्विन ने 16 गेंद में 14 रन की पारी खेली। इसके बाद टीम को जीत दिलाने की जिम्मेदारी धोनी और जडेजा के कंधों पर आ गई जिन्होंने दो गेंद शेष रहते लक्ष्य हासिल कर लिया।

धोनी ने मैच के बाद कहा, ‘‘हम उसका इस्तेमाल करना चाहते थे और उसे अधिक जिम्मेदारी देना चाहते थे। उसमें बल्लेबाजी करने की क्षमता है। वह स्ट्राइक रोटेट कर सकता है और फिर स्पिनरों को निशाना बना सकता है। कुछ हद तक यह काम कर गया। आपको उन्हें मौके देने होंगे। अचानक ही आप उनसे प्रदर्शन की उम्मीद नहीं कर सकते।’’

धोनी ने कहा कि कीवोन कूपर पर जडेजा का छक्का अहम था क्योंकि इसने उनके ऊपर से दबाव हटा दिया। उन्होंने कहा, ‘‘जडेजा के बड़े शॉट


से काफी मदद मिली। इस तरह के विकेट पर आप 10 या 12 से अधिक रन आसानी से नहीं बना सकते। यह मुश्किल स्कोर है। गेंदबाजी करते हुए हमारे खिलाफ कुछ ऐसे ओवर गए थे।’’

राजस्थान के कप्तान शेन वॉटसन आज पारी की शुरुआत करने उतरे और उन्होंने 51 रन की पारी खेलते हुए टूर्नामेंट का अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाया। यह पूछने पर कि क्या वह आगे भी पारी का आगाज करते रहेंगे, वॉटसन ने कहा, ‘‘हमें देखना होगा। यह मैच के हालात और इस बात पर निर्भर करेगा कि हम किसके खिलाफ खेल रहे हैं।’’

ऑस्ट्रेलिया के इस ऑलराउंडर ने कहा, ‘‘यह करीबी मैच था और इसे कोई भी जीत सकता था। धोनी और जडेजा ने अंत में अच्छा खेल दिखाते हुए अपनी टीम को जीत दिला दी।’’

(भाषा)


आपके विचार