Bookmark and Share
IPL 7 : मुंबई के खिलाफ जीत की लय कायम रखना चाहेगा केकेआर Print
User Rating: / 1
PoorBest 
Tuesday, 13 May 2014 14:28

altकटक। पिछले मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को हराने के बाद आत्मविश्वास से ओतप्रोत कोलकाता नाइट राइडर्स आईपीएल के मैच में कल गत चैम्पियन मुंबई इंडियंस को हराकर जीत की लय कायम रखने उतरेंगे ।


     दोनों टीमों का पिछला मुकाबला संयुक्त अरब अमीरात में हुआ था जिसमें केकेआर ने जीत दर्ज की थी । टूर्नामेंट में अच्छी शुरूआत नहीं कर सकी केकेआर का मनोबल लगातार दो जीत के बाद बढा है । खासकर पंजाब जैसी मजबूत टीम को हराकर उसके हौसले बुलंद है ।

     केकेआर नौ मैचों में चार जीत और पांच हार के बाद तालिका में चौथे स्थान पर है । प्लेआफ चरण में प्रवेश की उम्मीदें पुख्ता करने के लिये उसका इरादा जीत दर्ज करने का होगा ।

      दिल्ली डेयरडेविल्स और पंजाब के खिलाफ कोलकाता के बल्लेबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया । गौतम गंभीर ने मोर्चे से अगुवाई करते हुए दोनों मैचों में अर्धशतक बनाये । राबिन उथप्पा और मनीष पांडे ने भी उपयोगी योगदान दिया । 

      गेंदबाजों ने टूर्नामेंट में कहर बरपा रहे पंजाब के बल्लेबाजों को आठ विकेट पर 149 रन पर रोक दिया जिससे उनका आत्मविश्वास बढा होगा । 

      अंतिम एकादश में पीयूष चावला और मोर्नी मोर्कल को शामिल करने का केकेआर का फैसला सटीक साबित हुआ । दोनों गेंदबाजों ने कुल आठ ओवर में 49 रन देकर पांच विकेट बांटे ।

 


    लेग स्पिनर पीयूष चावला ने 19 रन देकर तीन और तेज गेंदबाज मोर्कल ने 20 रन देकर दो विकेट लिये । रहस्यमयी स्पिनर सुनील नारायण के रहते केकेआर का गेंदबाजी आक्रमण काफी मजबूत है । 

   गत चैम्पियन मुंबई ने अभी तक नौ मैचों में सिर्फ तीन जीत दर्ज की है । उसे भली भांति पता है कि प्लेआफ में जगह पाने के लिये उसे बाकी सभी मैच जीतने होंगे ।

     उसने कल रात सनराइजर्स हैदराबाद पर सात विकेट से जीत दर्ज की । मुंबई के बल्लेबाजों में से कप्तान रोहित शर्मा और वेस्टइंडीज के कीरोन पोलार्ड मौजूदा सत्र में सफल रहे हैं । अंबाती रायुडू ने भी रन बनाये हैं । उन्होंने लैंडल सिमंस के साथ कल उपयोगी साझेदारी करके टीम को जीत दिलाई ।

     मुंबई के सलामी बल्लेबाज सी गौतम ने भी कुछ अच्छी पारियां खेली लेकिन माइकल हस्सी और कोरे एंडरसन चल नहीं सके हैं । गेंदबाजी में जहीर खान की गैर मौजूदगी टीम को खल रही है । वैसे यदि लसिथ मलिंगा, प्रवीण कुमार, हरभजन सिंह और प्रज्ञान ओझा एक ईकाई के रूप में अच्छा प्रदर्शन कर सके तो मेजबान को दिक्कतें आ सकती है ।

(भाषा)

आपके विचार