Bookmark and Share
रहाणे व धवन की धमाकेदार पारी से भारत ने जीती शृंखला Print
User Rating: / 0
PoorBest 
Wednesday, 03 September 2014 10:04


बर्मिंघम। बल्लेबाजों के लिए स्वर्ग मानी जा रही पिच पर गेंदबाजों के अनुशासित प्रदर्शन और अंजिक्य रहाणे और शिखर धवन की सलामी जोड़ी की बड़ी शतकीय साझेदारी से भारत ने मंगलवार को यहां चौथे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के एकतरफा मुकाबले में इंग्लैंड को 117 गेंद शेष रहते हुए नौ विकेट से हराकर पांच मैचों की शृंखला में 3-0 से अजेय बढ़त हासिल कर ली। भारत के लिए शुरू  से ही सब कुछ सकारात्मक रहा। महेंद्र सिंह धोनी ने टास जीता और फिर इंग्लैंड को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया जिसके अधिकतर बल्लेबाज रन बनाने के लिए जूझते रहे। इस शृंखला में पहली बार खेल रहे मोईन अली ने आखिर में 67 रन की तेजतर्रार पारी खेली लेकिन इसके बावजूद इंग्लैंड की टीम 49.3 ओवर में 206 रन पर ढेर हो गई। 


रहाणे (100 गेंद पर 106 रन) ने इसके बाद अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करके पहला वनडे शतक जड़ा और बाएं हाथ के बल्लेबाज धवन (81 गेंदों पर नाबाद 97) के साथ पहले विकेट के लिए 183 रन की साझेदारी की। भारतीय टीम ने मात्र 30.3 ओवर में एक विकेट पर 212 रन बनाकर इंग्लैंड को शर्मनाक शिकस्त दी। टैस्ट शृंखला 1-3 से गंवाने वाले भारत ने कार्डिफ में दूसरा वनडे 133 रन और नाटिंघम में तीसरा मैच छह विकेट से जीता था। ब्रिस्टल में पहला वनडे बारिश की भेंट चढ़ गया था। 

पिच बल्लेबाजी के लिए बहुत अच्छी थी और इसलिए भारतीय गेंदबाजों की तारीफ करनी होगी जिन्होंने इंग्लैंड के बल्लेबाजों को कोई मौका नहीं दिया। मोहम्मद शमी सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 38 रन देकर तीन विकेट लिए। भुवनेश्वर कुमार और रविंद्र जडेजा ने उनका अच्छा साथ दिया। आर अश्विन और सुरेश रैना को एक-एक विकेट मिला। भारतीय सलामी जोड़ी ने पहले चार ओवरों में सतर्कता बरती लेकिन इसके बाद रहाणे ने गेंदबाजों को मजा चखाने की ठानी और वह इसमें पूरी तरह से सफल रहे। रहाणे ने पहले एंडरसन को निशाना बनाया और पारी के पांचवें ओवर में उन्होंने टैस्ट शृंखला में सफल रहे इस तेज गेंदबाज पर चार चौके लगाए। धवन ने हैरी गुर्नी पर चौका जड़कर अपने हाथ खोले और क्रिस वोक्स की लगातार दो गेंदों को चार रन के लिए भेजा। 

रहाणे ने स्टीवन फिन की शार्ट पिच गेंद को पुल करके पारी का पहला छक्का जमाया। मोईन का स्वागत उन्होंने छक्के और चौके से किया और अपना दूसरा स्पैल करने के लिए आए एंडरसन की गेंद लांग आन पर छह रन के लिए भेजी। इससे धवन भी खुल गए और उन्होंने एंडरसन पर गगनदाई छक्का जड़कर इंग्लैंड के प्रशंसकों को हताश कर दिया। एंडरसन ने छह ओवर किए और 38 रन दिए। वोक्स पर चौका जड़कर रहाणे 90 रन के पार पहुंचे और इसी गेंदबाज के अगले ओवर में उन्होंने दो रन लेकर 96 गेंदों पर एकदिवसीय क्रिकेट में अपना पहला शतक पूरा किया। वे हालांकि इसके तुरंत बाद गुर्नी की नीची रहती फुलटास पर आसान कैच देकर पवेलियन लौट गए। 

धवन ने इसके बाद धुआंधार बल्लेबाजी की। उन्होंने वोक्स के एक ओवर में दो चौके और एक छक्का लगाया और फिर गुर्नी पर विजयी छक्का जड़ा। लक्ष्य कम होने के कारण वे शतक से वंचित रह गए। धवन ने अपनी पारी में 11 चौके


और चार छक्के जबकि रहाणे ने दस चौके और चार छक्के लगाए। इससे पहले इंग्लैंड के बल्लेबाजों में केवल मोईन ही भारतीय गेंदबाजों का डटकर सामना कर पाए। उन्होंने अपना दूसरा एकदिवसीय अर्धशतक जमाया जिसके लिए उन्होंने 50 गेंद खेली और चार चौके और तीन छक्के लगाए।

पिछले दो मैचों में अर्धशतकीय साझेदारी निभाने वाले एलिस्टेयर कुक और एलेक्स हेल्स इस बार इंग्लैंड को अच्छी शुरुआत नहीं दे पाए। भुवनेश्वर ने आठ ओवरों के अपने शुरुआती स्पैल में प्रभावशाली गेंदबाजी की और 14 रन देकर दो विकेट लिए। उन्होंने पांचवें ओवर में दोनों सलामी बल्लेबाजों को आउट किया। हेल्स को उन्होंने इन स्विंगर पर बोल्ड किया और फिर कुक को गली में रैना के हाथों कैच कराया। तीन ओवर बाद शमी ने बैलेंस को आउट करके इंग्लैंड का शीर्ष क्रम हिला दिया। पिच में नमी थी और इसलिए धोनी ने स्पिनरों को गेंद सौंपने में जल्दबाजी नहीं दिखाई। 18वें ओवर में अश्विन के रू प में स्पिनर उतारा गया जबकि इंग्लैंड 19वें ओवर में 50 रन तक पहुंचा। इयोन मोर्गन और जो रूट ने चौथे विकेट के लिए 80 रन जोड़कर पारी संवारने का प्रयास किया। रू ट ने इस बीच वनडे में 1000 रन भी पूरे किए। पहले 25 ओवर में केवल 87 रन बने। 

इसके बाद रन गति और धीमी हो गई और 11 ओवर तक कोई बाउंड्री नहीं गई। इस बीच दो विकेट गिरने से पारी फिर से लड़खड़ा गई। मोर्गन ने जडेजा की गेंद पर लेग स्लिप में खड़े रैना को आसान कैच दिया। इसके चार ओवर बाद रू ट ने रैना पर रिवर्स स्वीप लगाकर कैच थमाया। मोईन और जोस बटलर ने इसके बाद 39 गेंदों पर 50 रन की साझेदारी की। इससे इंग्लैंड को थोड़ी राहत मिली। बल्लेबाजी पावरप्ले के दौरान 41 रन बने। बटलर को हालांकि अंपायर पाल रीफेल ने गलत एलबीडब्लू आउट दिया जबकि मोईन ने 43वें ओवर में अपना अर्धशतक पूरा किया। मोईन को आखिर में अश्विन ने बोल्ड किया जबकि क्रिस वोक्स रैना के सीधे थ्रो पर रन आउट हुए। शृंखला का पांचवां और आखिरी मैच पांच सितंबर को लीड्स में खेला जाएगा। 

स्कोर बोर्ड

इंग्लैंड : एलिस्टेयर कुक का रैना बो भुवनेश्वर 9, एलेक्स हेल्स बो भुवनेश्वर 6, गैरी बैलेंस का रहाणे बो शमी 7, जो रू ट का कुलकर्णी बो रैना 44, इयोन मोर्गन का रैना बो जडेजा 32, जोस बटलर पगबाधा बो शमी 11, मोईन अली बो अश्विन 67, क्रिस वोक्स रन आउट 10, स्टीवन फिन बो जडेजा 2, जेम्स एंडरसन नाबाद 1, हैरी गर्ने बो शमी 3, अतिरिक्त : 14 रन

कुल : 206 रन (49.3 ओवरों में) 

विकेट पतन : 1-15, 2-16, 3-23, 4-103, 5-114, 6-146, 7-194, 8-201, 9-202

गेंदबाजी : भुवनेश्वर 8-3-14-2, कुलकर्णी 7-0-35-0, शमी 7.3-1-28-3, अश्विन 10-0-48-1, जडेजा 10-0-40-2, रैना 7-0-36-1,

भारत : अंजिक्य रहाणे का कुक बो गुर्ने 106, शिखर धवन नाटआउट 97, विराट कोहली नाटआउट 1, अतिरिक्त : 8, कुल (30-3 ओवर में एक विकेट पर) 212 रन  

विकेट पतन : 1-183 

गेंदबाजी : एंडरसन 6-1-38-0, गुर्नी 6.3-0-51-1, फिन 7-0-38-0, वोक्स 4-0-40-0, अली 7-0-40-0 

(भाषा)


आपके विचार