Bookmark and Share
धोनी ने की मोहम्मद अजहरुद्दीन की बराबरी Print
User Rating: / 0
PoorBest 
Monday, 01 September 2014 11:06


नाटिंघम। महेंद्र सिंह धोनी ने कप्तान रहते हुए शनिवार को यहां एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 90वीं जीत दर्ज करके मोहम्मद अजरुद्दीन के भारतीय रेकार्ड की बराबरी की। भारत ने तीसरे एकदिवसीय मैच में इंग्लैंड को छह विकेट से हराकर पांच मैचों की शृंखला में 2-0 से बढ़त बनाई। 


धोनी की कप्तानी में भारत ने अब तक 161 मुकाबलों में 90 में जीत दर्ज की है। इसके अलावा 57 मैच भारत ने हारे हैं जबकि चार मैच टाई रहे और दस मैचों का परिणाम नहीं निकला। इस तरह से उनकी सफलता का फीसद 60.92 है जो कि अजरुद्दीन से बेहतर है जिनकी अगुआई में भी भारत ने 90 मैचों में जीत दर्ज की। अजहर ने हालांकि कुल 174 मैचों में टीम की अगुआई की और इनमें से 76 मैचों में भारत को हार का सामना भी करना पड़ा। दो मैच टाई रहे जबकि छह मैचों का परिणाम नहीं निकला। इस तरह से अजहर का सफलता का फीसद 54.16 बनता है। 

धोनी अगले मैच में शृंखला जीतने के साथ ही वनडे में भारत के सबसे सफल कप्तान बनने की कोशिश करेंगे लेकिन विश्व रेकार्ड अभी उनकी जद से काफी दूर है। रिकी पोंटिंग की अगुआई में आस्ट्रेलिया ने 165 वनडे में जीत दर्ज की जो रेकार्ड है। उनके बाद दूसरे नंबर पर आस्ट्रेलिया के ही एलन बोर्डर (107 जीत) का नंबर आता है। इंग्लैंड में हालांकि धोनी का कप्तानी रेकार्ड बेहतरीन है।


उनकी कप्तानी में भारत ने इंग्लैंड में जो 24 मैच खेले उनमें से 16 में उसे जीत और पांच में हार मिली। दो मैच टाई रहे जबकि एक मैच का परिणाम नहीं निकला। इंग्लैंड में धोनी की सफलता का रेकार्ड 73.91 है। 

इस मैच के दौरान धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक स्टंप आउट करने का नया रेकार्ड बनाया। उनके नाम पर 131 स्टंपिंग दर्ज हैं जबकि श्रीलंका के कुमार संगाकारा 129 स्टंपिंग के साथ दूसरे स्थान पर हैं। श्रीलंका के ही रोमेश कालूवितर्णा (101) तीसरे स्थान पर हैं। 

इंग्लैंड के इयान बेल ने वनडे में इंग्लैंड की तरफ से सर्वाधिक बार (16) रन आउट होने का नया रेकार्ड बनाया। पाल कोलिंगवुड और एलन लैंब अपने करियर में 15-15 बार रन आउट हुए थे। इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टेयर कुक ने इस मैच के दौरान वनडे में 3000 रन पूरे किए। उन्होंने अब 84 मैचों में 37.87 की औसत से 3030 रन बनाए हैं। वह इंग्लैंड के 13वें बल्लेबाज हैं जो इस मुकाम पर पहुंचे। 

विराट कोहली 40 रन बनाकर आउट हुए जो उनका इंग्लैंड में पिछली 12 अंतरराष्ट्रीय पारियों में उच्चतम स्कोर है। यह पहला अवसर है जबकि दिल्ली के यह बल्लेबाज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लगातार 12 पारियों में अर्धशतक जड़ने में नाकाम रहे। 

(भाषा)


आपके विचार