Bookmark and Share
अफगानिस्तान की हबीबा सराबी को मिला मैगसेसे Print
User Rating: / 0
PoorBest 
Thursday, 25 July 2013 09:33

मनीला। अफगानिस्तान की पहली व एकमात्र महिला गवर्नर और म्यांमा में काचीन अल्पसंख्यक समुदाय की मानवाधिकार कार्यकर्ता इस साल मैगसेसे पुरस्कार जीतने वालों की सूची में शामिल हैं।
मनीला स्थित रैमन मैगसेसे अवार्ड फाउंडेशन ने बुधवार को यह जानकारी दी। इस पुरस्कार का नाम फिलीपीन के लोकप्रिय राष्ट्रपति के नाम पर रखा गया है। उनकी विमान हादसे में मौत हो गई थी। वर्ष 1957 में स्थापित यह फाउंडेशन एशिया में समुदायों की बेहतरी के लिए काम करने वाले व्यक्तियों और संगठनों को सम्मानित करती है।
फाउंडेशन ने कहा कि अफगानिस्तान के बमियान प्रांत की गवर्नर हबीबा सराबी और म्यांमा की मानवाधिकार कार्यकर्ता लाहपाइ सेंग रॉ को उनका अल्पसंख्यक होना अन्य समुदाय के सशक्तिकरण के लिए उनके काम करने से रोक नहीं सका। अल्पसंख्यक हजारा समुदाय से आने वाली 55 वर्षीय सराबी को गरीबी से जूझ रहे और युद्ध के कारण देश की जर्जर परिस्थितियों के बावजूद शिक्षा और महिलाओं के अधिकारों को बढ़ावा देने की दिशा में उल्लेखनीय योगदान के लिए सम्मानित किया गया।    बाकी पेज 12 पर    उङ्मल्ल३्र४ी ३ङ्म स्रँी १२
म्यांमा के सबसे बड़े सिविल सोसायटी समूह की संस्थापक लाहपाइ सेंग


रॉ को सैन्य संघर्ष के बीच सभी समुदाय के लोगों की मदद करने के लिए चुना गया है। उनकी संस्था काचीन राज्य में लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं, कृषि सुविधाएं मुहैया कराती है और शांति परियोजनाएं चलाती है।
काचीन के अल्पसंख्यक समुदाय की 64 वर्षीय सेंग रॉ ईसाई धर्म मानती हैं। उन्हें सरकार और विद्रोहियों के लिए काम करने पर सम्मानित किया गया। फाउंडेशन की ओर से जारी बयान के मुताबिक, सम्मानित होने वालों की सूची में - फिलीपीन में स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने वाली संस्था के मेडिकल अनुसंधानकर्ता एर्नेस्टो डोमिंगो, मानव-तस्करी रोकने के लिए काम करने वाली नेपाली संस्था ‘शक्ति समूह’ और इंडोनेशिया की भ्रष्टाचार विरोधी संस्था ‘कोमिसि पेम्बेरातंसन कोरूप्सी (भ्रष्टाचार उन्मूलन समिति) भी शामिल है। इन सभी को 31 अगस्त को एक समारोह में सम्मानित किया जाएगा।
फाउंडेशन की अध्यक्ष कार्मेन्सिता अबेला ने कहा,‘मैगसेसे पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सभी लोग अपने-अपने समाज में दुरुह समझी जाने वाली समस्याओं का दीर्घकालिक समाधान निकालने में बेहद गंभीरता से जुटे हुए हैं।’ (एएफपी)।

आपके विचार