Bookmark and Share
नरेन्द्र मोदी के ‘‘सीबीआई, आईएम’’ टिप्पणी को लेकर चुनाव आयोग पहुंची कांग्रेस Print
User Rating: / 0
PoorBest 
Wednesday, 13 November 2013 20:48

नई दिल्ली। कांग्रेस ने भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी के खिलाफ आज चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया है। उत्तरप्रदेश में एक रैली के दौरान नरेन्द्र मोदी की ‘‘सीबीआई और इंडियन मुजाहिदीन’’ की टिप्पणी पर कांग्रेस ने आयोग का दरवाजा खटखटाया है।

मुख्य चुनाव आयुक्त वी. एस. संपत को बहराइच में मोदी के भाषण का विवरण सौंपते हुए कांग्रेस कानूनी विभाग ने मोदी को यह कहते हुए उद्धृत किया ‘‘ये सपा या बसपा या कांग्रेस इनकी तिकड़ी चुनाव के मैदान में नहीं आएगी, अगले चुनाव में मुझे लगता है सीबीआई, इंडियन मुजाहिदीन यही लोग चुनाव का मोर्चा संभालेंगे ताकि कांग्रेस को बचा सकें।’’

कांग्रेस ने कहा कि मोदी की रैली को भले ही विधानसभा चुनाव होने वाले पांच राज्यों में आयोजित नहीं किया गया फिर भी यह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है क्योंकि इन्हें ‘‘जान बूझ कर चुनाव वाले राज्यों दिल्ली, राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए आयोजित किया गया’’।

भाजपा नेता इन राज्यों में रैलियों को संबोधित कर रहे हैं और उनकी सीधी लड़ाई कांग्रेस से है।

पार्टी ने कहा, ‘‘बहराइच रैली इसी का हिस्सा थी ताकि चुनाव वाले राज्यों के मतदाताओं को प्रभावित किया जा सके जो आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है।’’

कांग्रेस कानूनी


विभाग के सचिव के. सी. मित्तल ने अपनी शिकायत में कहा, ‘‘इस तरह के बयान व्यापक रूप से प्रचारित किए जा रहे हैं और कांग्रेस के लिए इसके गंभीर परिणाम होंगे। इसे दुर्भावनापूर्ण रूप से प्रचारित किया जा रहा है और कांग्रेस की छवि खराब की जा रही है और इनका उद्देश्य राजनीतिक एवं सामाजिक नुकसान पहुंचाना है ।’’

मित्तल ने आरोप लगाया कि मोदी ने कांग्रेस पार्टी की तुलना प्रतिबंधित संगठन इंडियन मुजाहिदीन से की और इस मामले में उन्होंने यहां तक कहा, ‘‘ये बम, बंदूक और पिस्तौल की राजनीति करने वाले।’’

कांग्रेस ने कहा कि उनका यह बयान ‘‘अपमानजनक’’ है और आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करता है।

इसने आरोप लगाए कि मोदी के बयान ‘‘दुर्भावनापूर्ण होने के अलावा इनका चुनाव होने वाले राज्यों में मतदाताओं में गलत संदेश जाएगा ।’’

कांग्रेस ने कहा कि मोदी के बयान को चुनाव वाले राज्यों सहित हर जगह काफी प्रचारित एवं टेलीविजन पर प्रसारित किया गया। इसने कहा, ‘‘रैली का एकमात्र उद्देश्य सांप्रदायिक नफरत फैलाना एवं मतदाताओं को कांग्रेस को वोट करने के प्रति आतंकित करना है।’’

(भाषा)

आपके विचार