मुखपृष्ठ संपादकीय
संपादकीय
दावे और हकीकत

दावे और हकीकत

जनसत्ता 23 जुलाई, 2013: जब से भाजपा ने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी चुनावी कमान सौंपी है, विकास मॉडल की चर्चा ने भी जोर पकड़ा

 

सड़क पर सुध

जनसत्ता 23 जुलाई, 2013: सड़क दुर्घटनाओं के पीड़ितों के इलाज में सरकार की भूमिका की जरूरत लंबे समय से महसूस की जा रही थी; खासतौर पर राष्ट्रीय

 
घाटी के घाव

घाटी के घाव

जनसत्ता 22 जुलाई, 2013: मानवाधिकार हनन की घटनाओं के संदर्भ में सैन्य अधिकारियों की ओर से यह दलील अक्सर दी जाती रही है कि

 

इलाज का कचरा

जनसत्ता 22 जुलाई, 2013: शहरों-महानगरों में अलग-अलग वजहों से दूषित होती जा रही आबोहवा के बीच कम से कम अस्पतालों के परिसर में कोई

 

दाखिले के रास्ते

जनसत्ता 20 जुलाई, 2013: उच्चतम न्यायालय ने मेडिकल और डेंटल पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए एनइइटी यानी राष्ट्रीय पात्रता सह

 
पारदर्शिता का पक्ष

पारदर्शिता का पक्ष

जनसत्ता 20 जुलाई, 2013: राजनीतिक दलों को सूचनाधिकार कानून के दायरे में रखने के केंद्रीय सूचना आयोग के फैसले से सहमत न होते हुए भी माकपा ने

 
मौत का निवाला

मौत का निवाला

जनसत्ता 19 जुलाई, 2013: छपरा में विषाक्त भोजन से बाईस बच्चों की मौत के बाद वहां के राजनीतिक दल अब सरकार को निशाना बना कर अपना

 

कचरे के तट

जनसत्ता 19 जुलाई, 2013: राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण पहले भी यमुना के किनारे किसी भी तरह का मलबा या कचरा फेंकने के खिलाफ दिशा-निर्देश जारी

 
निवेश के दरवाजे

निवेश के दरवाजे

जनसत्ता 18 जुलाई, 2013: रुपए की कमजोरी से परेशान केंद्र सरकार ने तेजी दिखाते हुए दूरसंचार, बीमा सहित करीब एक दर्जन क्षेत्रों

 

पिंजरा और आकाश

जनसत्ता 18 जुलाई, 2013: सरकार से कोयला घोटाले की जांच रिपोर्ट साझा करने पर उच्चतम न्यायालय ने सख्त नाराजगी जताते हुए सीबीआइ

 
दुरुस्त आयद

दुरुस्त आयद

जनसत्ता 8 अप्रैल, 2013: यह अच्छी बात है कि भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में करीब ढाई महीने पहले आया तनाव अब दूर होने लगा है।

 
«StartPrev6162636465NextEnd»

 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?