मुखपृष्ठ राजनीति
राजनीति

मोदी के लिए मौका और मुश्किलें

विजय विद्रोही
जनसत्ता 25 जून, 2013: बहुत साल पहले अमोल पालेकर की एक फिल्म आई थी: ‘थोड़ा सा रूमानी हो जाएं’। इस फिल्म

 

ईरान का रूहानी दौर

अख़लाक़  अहमद उस्मानी
जनसत्ता 24 जून, 2013: चॉकलेट-बिस्कुट के बेहद शौकीन बारह साल के हसन रूहानी ने दो सपने देखे थे। देश

 
«StartPrev31323334NextEnd»

 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?