मुखपृष्ठ फोटो उत्तराखंड में तबाही की दर्दनाक तस्वीरें
उत्तराखंड में तबाही की दर्दनाक तस्वीरें

बादल फटने और बाढ़ की आपदा से जूझ रहे राज्य के कई इलाकों में अब भी 50,000 से ज्यादा लोग फंसे हुए बताये जाते हैं।  इस भीषण आपदा में मृतकों की संख्या कई सौ होने की आशंका है और इतने ही लोग अभी लापता हैं। तस्वीरों में देखिये तबाही का ये मंजर।


फोटो
 केन्द्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिन्दे ने कहा कि अब तक 207 लोग जान गंवा चुके हैं जबकि 50 हजार लोग राज्य के सुदूरवर्ती और अलग अलग इलाकों में अभी भी फंसे हुए हैं।
केन्द्रीय गृह ...
 उत्तराखंड में भयंकर बारिश और विनाशकारी बाढ की चपेट में आकर अब तक 207 लोगों की मौत हो चुकी है।
उत्तराखंड में ...
शिन्दे ने कहा कि ऐसा लगता है कि राहत और बचाव अभियान में लगी विभिन्न एजेंसियों के बीच समन्वय का अभाव है और इससे सरकार के प्रयासों पर असर पड रहा है ।
शिन्दे ने कहा क...
भूस्खलन और प्रलंयकारी बाढ़ से बचने के लिए होटल से सेना के शिविरों के बीच भागती दीक्षा के लिए इस पहाड़ी सुनामी से बच जाना किसी चमत्कार से कम नहीं था, जो चार दिन तक एक वक्त खाकर जिंदगी के लिए संघर्ष करती रही।
भूस्खलन और प्रल...
एक अन्य व्यक्ति ने अपनी आपबीती सुनाते हुए कहा कि उसने इस आपदा में अपने परिवार के सब सदस्य खो दिए हैं। उस व्यक्ति की बेबसी और पीड़ा हर सांत्वना से परे थी।
एक अन्य व्यक्ति...
केदारनाथ इलाके से गुप्तकाशी लाए गए इस व्यक्ति ने बताया, ‘‘हमारा 400-500 व्यक्तियों का दल आया था, जिसमें से 150-200 लोगों की मौत हो चुकी है। मेरी पत्नी, बेटी और चार अन्य रिश्तेदार बह गए। कोई नहीं बचा। कोई मुझे देहरादून पहुंचने में मदद करो।’’
केदारनाथ इलाके ...
उत्तर प्रदेश की श्रद्धा तोमर भाग्यशाली थी कि प्रकृति के इस कहर में जीवित बच पाई, लेकिन वह वहां फंसे बाकी लोगों की खैरियत को लेकर फिक्रमंद है।
उत्तर प्रदेश की...
देवी बताती हैं, ‘‘हम अपने कमरों में फंसे हुए थे। हर तरफ अफरा तफरी का माहौल था, हमें लगा सब कुछ खत्म हो गया है, लेकिन ईश्वर की कृपा से हम वापस आने में कामयाब हुए, लेकिन हमें नहीं मालूम कि वहां फंसे रह गए बाकी लोग वापस लौट भी पाएंगे या नहीं।’’
देवी बताती हैं,...
चेन्नई के रहने वाले एन मेरीयप्पन का कहना था कि उन्होंने केदारनाथ में जो कुछ देखा उसे शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता।
चेन्नई के रहने ...
भारी बारिश से तबाह हो चुके उत्तराखंड में आज व्यापक बचाव अभियान शुरू किया गया है और केदारनाथ तथा बद्रीनाथ से करीब नौ हजार लोगों को निकालने के लिये 40 हेलीकाप्टर सेवा में लगाये गये हैं।
भारी बारिश से त...
अधिकारियों ने कहा कि आज का राहत और बचाव अभियान मुख्य रूप से सबसे अधिक प्रभावित केदारनाथ इलाके में चलाया जायेगा ,जहां 250 लोग फंसे हुये हैं ।
अधिकारियों ने क...
बचाव अभियान के गति पकड़ने के बीच उत्तराखंड के प्रधान सचिव राकेश शर्मा ने कहा है कि हताहतों की संख्या इतनी अधिक हो सकती है जो ‘चौंका दे’ ।
बचाव अभियान के ...
इसे ‘सहस्राब्दी की सबसे भीषण त्रासदी’ करार देते हुये कृषि मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा, ‘‘सबसे अधिक प्रभावित केदारनाथ इलाके में पूरे आधारभूत ढांचे को इतना ज्यादा नुकसान पहुंचा है कि उससे उबरने में हमें कम से कम पांच साल लगेंगे ।’’
इसे ‘सहस्राब्दी...
कहा जा रहा है कि हजारों लोग अभी भी राज्य के विभिन्न हिस्सों में फंसे हुये हैं जो उच्च्ंचाई वाले इलाकों में बादल फटने और बाढ़ से प्रभावित हुये हैं।
कहा जा रहा है क...
आधिकारिक रूप से मरने वालों की संख्या अब भी 207 है लेकिन मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने कहा है कि मरने वालों की संख्या सैंकड़ो हो सकती है और यह तभी पता चल सकेगा जब इलाके में लोग जा सकेंगे और पानी का स्तर घटेगा।
आधिकारिक रूप से...

 

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?