मुखपृष्ठ अर्काइव
Bookmark and Share
सहवाग को सुझावों पर अमल होने की उम्मीद PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Friday, 19 August 2011 16:20

बेंगलूर। दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष अरुण जेटली से मिलने के एक दिन बाद भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि निचले स्तर पर चयन प्रक्रिया में विसंगति है और आशा है कि उन्होंने डीडीसीए अधिकारियों को जो सुझाव दिए हैं उन पर जल्द ही अमल होगा।

सहवाग ने एक कार्यक्रम से इतर पत्रकारों से कहा, 'निचले स्तर पर ऐसा [गलत चयन] होता रहा है। मैंने डीडीसीए को कुछ सुझाव दिए हैं और आशा है कि इन पर जल्द ही अमल किया जाएगा और भविष्य में इसके परिणाम देखने को मिलेंगे।' दिल्ली के इस सलामी बल्लेबाज ने डीडीसीए के खिलाफ बगावत की अगुवाई की। उन्होंने खेल समिति पर भाई-भतीजावाद और भ्रष्टाचार में लिप्त होने का आरोप लगाया था। उनके इस पक्ष का गौतम गंभीर, ईशांत शर्मा और आशीष नेहरा जैसे सीनियर खिलाड़ियों ने समर्थन किया था।

भारतीय टीम के उप कप्तान युवराज सिंह ने भी चयन प्रक्रिया को लेकर सहवाग की हां में हां मिलाई। उन्होंने कहा, 'सहवाग ने आवाज उठाई और सभी उनके साथ हैं। कुछ ऐसे भी मौके आए जब मैंने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन मुझे नहीं चुना गया। इस तरह की गलत प्रक्रिया से युवा क्रिकेटरों के करियर पर बुरा प्रभाव पड़ता है और उनके सपने बिखर जाते हैं।' उन्होंने कहा,


'इसलिए मेरा मानना है कि प्रत्येक खिलाड़ी के प्रदर्शन को देखकर चयन किया जाना चाहिए।'

कंधे की चोट से उबर रहे सहवाग ने कहा कि वह सितंबर के पहले सप्ताह से खेलना शुरू कर देंगे। उन्होंने कहा, 'मैं अब पहले से थोड़ा बेहतर महसूस कर रहा हूं। मैं केवल दस से पंद्रह गेंद हिट कर रहा हूं तथा कट और पुल शॉट नहीं खेल रहा हूं।' इस बीच सीनियर बल्लेबाज राहुल द्रविड़ की लगभग दो साल एक दिवसीय टीम में वापसी के बारे में युवराज ने कहा कि इससे टीम अनुभवी हुई है और यह युवा खिलाड़ियों के लिए भी फायदेमंद होगा।

इन दोनों के अलावा बिरला सनलाइफ के एक अन्य ब्रांड एंबेसडर रोहित शर्मा ने कहा कि वह अपने खेल में सुधार और राष्ट्रीय टीम में वापसी के लिए घरेलू क्रिकेट पर ध्यान देंगे। रोहित ने इन बातों को भी नकार दिया कि वह शार्ट पिच गेंद खेलने में असहज महसूस करते हैं। उन्होंने कहा, 'मैंने आईपीएल और ट्वंटी-20 विश्व कप में इन शार्ट पिच गेंदों को अच्छी तरह से खेला है। कभी कभार गलती हो जाती है। पुल शॉट मेरा पसंदीदा है और मैं इसे खेलना जारी रखूंगा।'

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?