मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की तीन दिवसीय भारत यात्रा आज से PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Wednesday, 17 September 2014 08:46


 

जनसत्ता ब्यूरो

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की भारत यात्रा से एक दिन पहले दोनों देशों के रिश्तों के ‘इंच से मीलों’ की ओर बढ़ने की उम्मीद जताई। उन्होंने कहा कि भारत और चीन के संबंधों की केमिस्ट्री (गुणधर्म) और अंकगणित मानवता के इतिहास का पुनर्लेखन कर सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीनी राष्ट्रपति का स्वागत करने के लिए अमदाबाद पहुंच गए हैं। चीनी राष्ट्रपति अपनी तीन दिन की भारत यात्रा की शुरुआत अमदाबाद से ही करेंगे।   

मोदी ने मंगलवार को यहां चीनी पत्रकारों से बातचीत में दोनों देशों के संबंधों के सवाल पर कहा,‘हमारे रिश्ते साधारण गणित से बयां नहीं किए जा सकते हैं। उनका एक अनूठा गुणधर्म है जो निर्णायक मोड़ ला सकता है।’ प्रधानमंत्री ने दोनों देशों के द्विपीक्षीय संबंधों के इंच से मीलों की ओर बढ़ने की संभावना जताते हुए कहा,‘हर इंच आगे बढ़ने पर हम मानवता के इतिहास का पुनर्लेखन कर सकते हैं। हमारा मील दर मील बढ़ना हमारी पूरी पृथ्वी को बेहतर बना सकता है।’ उन्होंने उम्मीद जताई कि भारत और चीन मिलकर कई मीलों का रास्ता पार कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि कई मील साथ चलने पर दो देश ही आगे नहीं बढ़ते बल्कि समस्त एशिया और मानवता प्रगति और समन्वय की ओर अग्रसर होगी। दुनिया की दो सबसे बड़ी आबादी वाले दोनों देशों के संदर्भ में उन्होंने कहा कि जब भारत और चीन को कुछ लाभ होगा तो उसका मतलब विश्व की लगभग 35 फीसद आबादी का लाभान्वित होना होगा। इसी तरह जब भारत और चीन के संबंध मजबूत होंगे तो दुनिया की 35 फीसद आबादी करीब आएगी। जब भारत और चीन के बीच आर्थिक सहयोग बढ़ेगा तो दुनिया की 35 फीसद आबादी के जीवन में गुणात्मक परिवर्तन आएगा। दोनों देशों के रिश्तों के बारे में उन्होंने कहा,‘हमारे संबंधों के गणित और गुणधर्म से मैं आश्वस्त हूं कि साथ मिलकर हम इतिहास रच सकते हैं और सारी मानवजाति के लिए बेहतर भविष्य बना सकते हैं।’ 

चीन के राष्ट्रपति की तीन दिवसीय भारत यात्रा की शुरुआत अमदाबाद से शुरू होगी। मोदी उनकी अगवानी के लिए मंगलवार को वहां पहुंचे। मोदी शी के सम्मान में बुधवार को साबरमती नदी के किनारे निजी भोज की मेजबानी करेंगे। शी 18 सितंबर को दिल्ली


आएंगे। शी की ओर से भारतीय रेलवे, निर्माण और ढांचागत परियोजनाओं में अरबों डालर मूल्य के निवेश की घोषणा करने की संभावना है। चीन का विदेशी मुद्रा भंडार इस समय विश्व में सबसे अधिक है। यह मार्च में रिकार्ड तीन हजार 950 अरब डालर तक पहुंच गया है। चीन की इसमें से 500 अरब डालर अगले पांच साल में विश्व भर में निवेश करने की योजना है। 

अमदाबाद पहुंचने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दौरे पर आने वाले राष्ट्र प्रमुखों को नई दिल्ली के बाहर भी यात्रा करनी चाहिए। देश की विविधता को बेहतर ढंग से समझने के लिए भारत के छोटे शहरों को देखना चाहिए। प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी पहली बार गुजरात यात्रा पर आए हैं। उन्होंने सरदार वल्लभभाई पटेल हवाई अड्डे पर कहा,‘आने वाले दिनों में गुजरात विकास की नई ऊंचाइयों को छुएगा। मुझे भरोसा है कि आम आदमी की आकांक्षाएं पूरी होंगी।’ उन्होंने कहा कि गुजरात का नेतृत्व करने के अनुभव से उन्हें केंद्र में सरकार चलाने में मदद मिली। उन्होंने यह भी कहा, ‘यदि कोई अन्य आम आदमी होता तो वह चकरा जाता। लेकिन मुझे यहां ऐसे अनुभव मिले कि मैं नई स्थिति और माहौल में आसानी से काम कर सकता हूं।’ प्रधानमंत्री ने कहा,‘थोड़े से समय में मुझे देश के समक्ष उपस्थित मूलभूत मुद्दों, विभिन्न हिस्सों में रहने वाले लोगों की स्थितियों और राज्यों से जुड़े मुद्दों को समझना और उनका समाधान करना है। मैंने देश को आगे ले जाने का प्रयास किया। मैं अपने प्रयासों से संतुष्ट हूं।’

हवाई अड्डे पर अपने स्वागत की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जनरल केएम करिप्पा ने सेना प्रमुख के रूप में अपने गृह नगर में अपने स्वागत समारोह में दिए भाषण में कहा था कि अपने ही लोगों द्वारा सम्मानित किए जाने से विशेष खुशी मिलती है।’ उन्होंने कहा,‘मेरे मामले में भी, ऐसे मित्र जिनके साथ मैंने काम किया, वह भूमि जहां मैं बड़ा हुआ, वे जब मेरा सम्मान करते हैं, तो यह मेरे दिल को छू जाता है। आपका पे्रम और भावनाएं मेरे लिए अमूल्य हैं।’

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?