मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
'आप' का फिर नजीब जंग पर निशाना PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Monday, 15 September 2014 09:10


नई दिल्ली। भाजपा को सरकार बनाने का न्योता देने के लिए राष्ट्रपति से इजाजत मांगने वाली चिट्ठी लिखने के लिए आम आदमी पार्टी (आप) ने रविवार को उपराज्यपाल नजीब जंग को आड़े हाथ लिया। पार्टी ने सवाल किया कि उन्होंने भाजपा से समर्थन देने वाले विधायकों का पत्र दिखाने के लिए क्यों नहीं कहा। आप ने कहा कि जब वह सरकार बनाने जा रही थी तो जंग ने उसे संख्याबल दिखाने को कहा था। लेकिन उन्होंने अभी तक भाजपा से यह नहीं कहा है। आप ने एक बयान में कहा कि पिछले साल दिसंबर में जब आप सरकार गठन की बात सामने आई तो जंग ने समर्थन की चिट्ठी पर जोर दिया था। आप ने आपसे तभी मुलाकात की थी जब उसके पास 70 सदस्यीय विधानसभा में कम से कम 36 विधायकों के समर्थन के पत्र थे। आप ने कहा कि वही मापदंड भाजपा के लिए क्यों नहीं अपनाए गए? भाजपा से क्यों नहीं पूछा गया कि वह समर्थन पत्र पेश करे कि कितने विधायक उसका समर्थन कर रहे हैं? क्या आपने भाजपा को सरकार गठन के दावे की मूल जरूरत से बचाना तय किया है जबकि इसी विधानसभा में भाजपा संख्या बल


नहीं होने का हवाला देते हुए आपकी (जंग की) पेशकश ठुकरा चुकी है?

दिसंबर, 2013 के चुनाव के बाद जंग ने भाजपा को सरकार बनाने का न्योता दिया था लेकिन पार्टी ने संख्या बल नहीं होने का हवाला देते हुए इससे इनकार कर दिया था।

आप ने जंग की इस दलील पर सवाल उठाए और कहा कि भाजपा इस साल फरवरी में भी सबसे बड़ी पार्टी थी जब अरविंद केजरीवाल ने इस्तीफा दिया था। तब आपने भाजपा को सरकार बनाने के लिए क्यों नहीं बुलाया? आपने इसके लिए सात महीने क्यों इंतजार किया? आपने इस रास्ते पर तब विचार क्यों नहीं किया? आप ने कहा कि सरकार गठन की संभावना का पता लगाना आपका (उपराज्यपाल का) कर्तव्य है लेकिन क्या यह सुनिश्चित करना आपका कर्तव्य नहीं है कि अनैतिक तरीके से किसी की सरकार नहीं बने? एक संवैधानिक पद पर आसीन रहते हुए आप (जंग) असंवैधानिक तरीके से कोई सरकार कैसे बनने देंगे, जिसका सबूत आपको पहले ही दिया जा चुका है?

(भाषा)


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?