मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
साम्प्रदायिकता को हराने के लिए वोट देने निकले जनता: मुलायम सिंह यादव PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Friday, 12 September 2014 13:46


लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने सूबे में हो रहे विधानसभा चुनावों को साम्प्रदायिकता को हराकर दूरगामी संदेश देने का सुनहरा मौका करार देते हुए जनता से फिरकापरस्ती को हराने के लिये हर हाल में वोट डालने की अपील की।


यादव ने ‘भाषा’ से बातचीत में कहा कि हर बार की तरह इस बार भी चुनाव प्रचार में भाजपा का साम्प्रदायिक एजेंडा उजागर हुआ है और वह केवल फिरकापरस्ती के जरिये उपचुनाव जीतना चाहती है। जनता के सामने उसे मुंहतोड़ जवाब देने का मौका है।

उन्होंने कहा कि मौसम विभाग ने कल उपचुनाव मतदान के दिन बारिश होने का अनुमान लगाया है लेकिन भाजपा को जवाब देने के लिए मतदाताओं को बहादुरी दिखाते हुए वोट डालने के लिए घरों से निकलना होगा और सपा के पक्ष में वोट डालकर साम्प्रदायिक ताकतों को करारा जवाब देना होगा।

सपा प्रमुख ने कहा कि एक लोकसभा तथा 11 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के नतीजों का प्रदेश की सपा सरकार की सेहत पर कोई असर नहीं होगा। लेकिन, अगर पार्टी इन सभी सीटों पर बाजी मार ले गयी तो उससे भाजपा का बहुत बड़ा नुकसान होगा क्योंकि उपचुनाव वाली 10 विधानसभा सीटों पर भाजपा तथा एक पर उसके सहयोगी का ही कब्जा रहा था और अगर वे सीटें उसके हाथ से खिसक गयीं


तो उसके ‘मोदी फैक्टर’ की हवा पूरी तरह निकल जाएगी।

यादव ने कहा कि भाजपा ने लोकसभा चुनाव में जनता से बड़े-बड़े वादे करके वोट हासिल कर लिया लेकिन बदले में उसे निराशा ही दी। सौ दिन से ज्यादा के कार्यकाल में केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने ना तो महंगाई कम की और ना ही कालेधन की वापसी या अन्य प्रमुख वादों को पूरा करने की दिशा में ठोस कदम उठाए।

सपा प्रमुख ने कहा कि मोदी सरकार के उलट उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार ने अपने घोषणापत्र में किये गये सभी वादे पूरे करके दिखा दिये। इससे साबित होता है कि सिर्फ सपा ही विकास ला सकती है, इसलिये उपचुनाव में उसे सभी सीटें जिताना होगा।

गौरतलब है कि 13 सितम्बर को उत्तर प्रदेश की 11 विधानसभा सीटों सहारनपुर, बिजनौर, ठाकुरद्वारा, नोएडा, निघासन, लखनऊ पूर्वी, हमीरपुर, चरखारी, सिराथू, बलहा तथा रोहनिया के लिए मतदान होना है। इनमें से पहली 10 भाजपा तथा 11वीं सीट उसकी सहयोगी पार्टी ‘अपना दल’ के विधायकों के लोकसभा के लिए चुने जाने के बाद खाली हुई हैं।

लोकसभा की मैनपुरी सीट के लिए उपचुनाव हो रहा है। यह सीट सपा मुखिया के इस्तीफे से खाली हुई है। यादव आजमगढ़ लोकसभा सीट से भी चुने गए थे जिसे उन्होंने बरकरार रखा है।

(भाषा) 


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?