मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
इमरान खान ने नवाज शरीफ को अदालत में घसीटने की दी धमकी PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Monday, 08 September 2014 10:33


इस्लामाबाद। क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान खान ने परेशानियों से घिरे प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को सुप्रीम कोर्ट में घसीटने की धमकी दी है ताकि संसद में प्रदर्शनकारियों और सेना के बारे में झूठ बोलने के लिए उनको अयोग्य करार दिया जा सके। फिलहाल राजनीतिक गतिरोध हल होने के कोई संकेत नहीं दिख रहे हैं। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के अध्यक्ष खान ने रात को संसद के सामने से प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि वह तब तक धरने पर रहेंगे जब तक सरकार शरीफ के इस्तीफे सहित उनकी मांगों को नहीं मान लेती। खान ने कहा कि पीटीआइ नेतृत्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को अयोग्य ठहराने के लिए सुप्रीम कोर्ट जाएगा, क्योंकि वे नेशनल असेंबली के पटल पर पीटीआइ, पीएटी और सेना के नेतृत्व के संबंध में झूठ बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि शरीफ उनकी पार्टी और मौलाना ताहिर-उल-कादरी को नुकसान पहुंचाने के लिए झूठ बोल रहे थे।

पीएमएल (एन) के जीते गए 2013 के आम चुनाव में कथित तौर पर हेराफेरी के आरोपों पर शरीफ के इस्तीफे की मांग को लेकर खान और कादरी संसद के सामने प्रदर्शन कर रहे हैं। तीन हफ्ते लंबे इस संकट को हल करने के लिए कई चरणों की बातचीत विफल हो चुकी है, क्योंकि प्रदर्शनकारी शरीफ को हटाने और नए चुनाव से कम पर मानने का तैयार नहीं हैं। 

सरकार ने प्रधानमंत्री के इस्तीफे से इनकार कर दिया है और कथित हेराफेरी की जांच के लिए न्यायिक आयोग बनाने का प्रस्ताव दिया है, जबकि शरीफ ने इच्छा जताई है कि अगर उनके खिलाफ आरोप साबित हुए तो


वह इस्तीफा दे देंगे। खान ने आरोप लगाया है कि सरकार पाकिस्तानी लोगों से झूठ बोल रही है कि चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने प्रदर्शन की वजह से यात्रा रद्द कर दी। हकीकत यह है कि उनकी यात्रा को अंतिम रूप नहीं दिया गया था।

उन्होंने कहा कि सरकार की वार्ता समिति ने मीडिया में एलान किया है कि पिछले साल के चुनाव में कथित हेराफेरी की जांच और चुनाव सुधार लागू करने संबंधी पीटीआइ की पांच मांगें मान ली गई हैं, लेकिन समिति ने इस बारे में पार्टी को सूचित नहीं किया है। संसद से झूठ बोलने के लिए खान ने वित्त मंत्री इशाक डार की आलोचना की। डार ने कहा था कि पिछले साल विकास दर बढ़कर 4.1 फीसद हो गई, जबकि बाद में उन्होंने आइएमएफ के अधिकारियों को 3.3 फीसद विकास दर के बारे में बताया। 

सरकार और पीटीआइ के बीच फिर से वार्ता शुरू होने की उम्मीद है। प्रक्रिया बहुत धीरे चल रही है। अभी कई मुद्दों पर मतभेद हैं। खान ने शनिवार को अपने अस्थायी मंच ट्रक पर रखे शिपिंग कंटेनर को सचिवालय इमारत से संसद के सामने डी चौक पर स्थानांतरित कर दिया। पाकिस्तान अवामी तहरीक के मौलाना कादरी ने खान के शिविर के पास ही डेरा डाला हुआ है। उनके समर्थकों ने संसद का पार्किंग क्षेत्र खाली कर दिया है और अब कांस्टिीट्यूशन एवेन्यू के पास बैठे हुए हैं।

(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?