मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
प्रीति जिंटा की मुश्किलें बढ़ी: नेस-प्रीति के बीच कहासुनी से 4 गवाहों का इंकार PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Friday, 05 September 2014 12:40


 मुंबई। आईपीएल मैच के दौरान अभिनेत्री प्रीति जिंटा के साथ दुर्व्यवहार और छेड़छाड़ के आरोपी उद्योगपति नेस वाडिया की ओर से सुझाए गए चार गवाहों ने जांच अधिकारियों के समक्ष कहा है कि उस दिन नेस एवं प्रीति के बीच किसी तरह की कहासुनी नहीं हुई थी।

    रूस्तम लॉयर, उनकी पत्नी गिया लॉयर, निकोलस चेन और सौमित्र श्रीवास्तव ने कल मरीन ड्राइव थाने में एक अधिकारी के समक्ष अपना बयान दर्ज कराया। ये चारों बीते 30 मई को आईपीएल मैच के दौरान वानखड़े स्टेडियम मौजूद थे। प्रीति ने इसी मैच के दौरान नेस द्वारा दुव्यर्वहार किए जाने का आरोप लगाया है।

    पुलिस के अनुसार इन चारों में से किसी ने भी प्रीति के इस दावे से सहमति नहीं जताई कि नेस ने उससे गाली-गलौज करने के बाद दुर्व्यवहार किया तथा फिर धमकी दी।

    पुलिस के मुताबिक एक वरिष्ठ कोरपोरेट पेशेवर रूस्तम लॉयर ने कहा, ‘‘मैच के दौरान नेस प्रीति के पास गए और उनके साथ महज कुछ देर बातचीत की। इसके बाद हमने (रूस्तम और गिया) देखा कि नेस वहां से चले गए। स्टेडियम में काफी शोरगुल होने के कारण हम उनके बीच हुई बातचीत को नहीं सुन सके।’’

    लॉयर ने बताया कि थोड़ी देर की बातचीत के बाद न तो नेस और न ही प्रीति परेशान नजर आ रही थीं तथा वे अपनी टीम की वाहवाही कर रहे थे। किसी भी पल कुछ असामान्य नहीं लगा।

    गिया ने भी अपने पति रूस्तम लॉयर


की तर्ज पर बयान दर्ज कराया और इससे इंकार किया कि प्रीति और नेस के बीच किसी तरह की कहासुनी हुई थी।

    कारोबारी निकोलस ने दावा किया, ‘‘दोनों के बीच बातचीत के दौरान मैंने एक बार भी ऐसा नहीं देखा कि नेस ने गाली दी हो, चिल्लाए हों, प्रीति को छुआ हो अथवा उनका हाथ पकड़ा हो।’’

    मुंबई स्थित प्रबंधन सलाहकार और स्टेडियम में घटना के दिन सीट तलाश रहे सौमित्र ने पुलिस को बताया, ‘‘मैंने देखा कि नेस अपने परिवार के साथ पीछे खड़े थे क्योंकि उनकी सीट पर पहले से लोग बैठे थे , उनके पास बैठने के लिए कोई जगह नहीं थी । कुछ समय के बाद मैंने देखा कि नेस पहली कतार में प्रीति के साथ बात कर रहे हैं। मैं सुन नहीं सका कि उनके बीच क्या बातचीत हुई और ऐसा नहीं लगा कि उनके बीच सामान्य बातचीत से ज्यादा कुछ हुआ। ऐसे में मैंने ध्यान नहीं दिया।’’

    जून में पुलिस के समक्ष दर्ज करायी गयी अपनी शिकायत में प्रीति ने 30 मई को वानखेड़े स्टेडियम में किंग्स इलेवन पंजाब और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच आईपीएल मैच के दौरान अपने पूर्व पुरूष मित्र पर प्रताड़ित करने, गाली गलौच करने और धमकी देने का आरोप लगाया था। 

(भाषा) 


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?