मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
वीडियो में देखें: अल कायदा ने भारतीय उपमहाद्वीप में खोली नई शाखा PDF Print E-mail
User Rating: / 1
PoorBest 
Thursday, 04 September 2014 13:28


वाशिंगटन। अमेरिकी मीडिया और खुफिया एजेंसियों ने आज कहा कि अल-कायदा ने भारत में जिहाद शुरू करने और अपनी खिलाफत बहाल करने तथा शरियत लागू करने के लिए भारतीय उपमहाद्वीप में एक नई शाखा स्थापित की है। 


     अल कायदा की आधिकारिक मीडिया वेब साइट अस- सहाब ने ‘भारतीय उपमहाद्वीप में कायदात अल जिहाद’ बनाने की घोषणा की है। यह जानकारी यू ट्यूब सहित सोशल मीडिया साइट पर डाली गई लंबी वीडिया से मिली है। 

     वरिष्ठ पाकिस्तानी उग्रवादी असिम उमर की अध्यक्षता वाला समूह शीर्ष तालिबान नेता मुल्लाह उमर को रिपोर्ट करेगा।

    अल कायदा अफगानिस्तान और पाकिस्तान में सक्रिय है। लेकिन समूह के नेता ऐमन अल जवाहिरी ने कहा, ‘‘कायदात अल जिहाद’’ संघर्ष भारत, म्यांमा बांग्लादेश ले जाएगा।

    ‘एसआईटीई इंटेलिजेंस ग्रुप’ द्वारा अनुवादित वीडियो में जवाहिरी ने कहा कि अल कायदा की नई शाखा की स्थापना की गई है और यह भारतीय उपमहाद्वीप में अल कायदात अल जिहाद है। यह पूरे भारतीय उपमहाद्वीप में जिहाद का परचम बुलंद करेगा, इस्लामी शासन वापस लाएगा और अल्लाह की शरियत को मजबूत बनाएगा।’’

    जवाहिरी ने कहा कि समूह ‘‘भारतीय उपमहाद्वीप, बर्मा, बांग्लादेश, असम, गुजरात, अहमदाबाद और कश्मीर में कमजोरों की हिफाजत करेगा’’ और ‘‘ कायदात अल जिहाद के आपके भाई आपको नहीं भूले हैं और वे आपको नाइंसाफी, जुल्म, उत्पीड़न और पीड़ा से बचाने के लिए जो कर सकते हैं


वे कर रहे हैं।’’

    वीडिया में जवाहिरी ने कहा कि समूह बनाने में सालों लगे हैं। 

      उसने कहा कि यह निकाय आज स्थापित नहीं हुआ है। यह दो साल से अधिक वक्त के प्रयासों का फल है, जिसमें भारतीय उपमहाद्वीप के मुजाहीदिन को इकट्ठा करके प्रमुख समूह कायदात अल जिहाद के एक निकाय में लाया गया। यह प्रयास इस्लामी अमीरात के सैनिकों और उसके विजयी अमीर :नेतृत्वकर्ता: ने शुरू किए थे और उन्हें सफलता मिली। 

      जवाहिरी ने 55 मिनट के वीडियों में कहा कि यह निकाय तौहिद :एकेश्वरवाद: शब्द के प्रति मुस्लिमों को गोलबंद करने के शेख ओसामा बिन लादेन का आह्वान पूरा करने के लिए बनाया गया है, जिसमें दुश्मनों के खिलाफ जिहाद शुरू करने, अपनी जमीन आजाद कराने, अपनी प्रभुसत्ता वापस हासिल करना और खिलाफत बहाल करना शामिल है। 

      अल कायदा की स्थापना ओसामा बिन लादेन ने की थी, जिसको मई 2011 में पाकिस्तान में अमेरिकी कमांडो ने मार गिराया था। उसने एकल खिलाफत को बहाल करने के लिए जिहादी लड़ाकों का लंबे वक्त तक नेतृत्व किया।

    जुलाई 2013 में अल कायदा ने एक अन्य वीडियो में भारतीय मुस्लिमों से वैश्विक जिहाद में शामिल होने की गुजारिश की थी।

(भाषा)


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?