मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
बुंदेलखंड की दो सीटों पर भाजपा और सपा आमने-सामने PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Monday, 01 September 2014 10:26


सुनील शर्मा

उरई (जालौन)। बुंदेलखंड के हमीरपुर व महोबा जिले की चरखारी सीट खाली हो जाने से विधानसभा के उपचुनाव की तारीख की घोषणा आयोग ने कर दी है। ये दोनों सीटें भाजपा के खाते में थीं। चरखारी सीट पर भाजपा नेता उमा भारती के झांसी-ललितपुर संसदीय सीट से लोकसभा सदस्य चुन लिए जाने से यह सीट खाली हुई थी। इसी तरह हमीरपुर सदर सीट से भाजपा की साध्वी निरंजन ज्योति विधायक थीं। ज्योति फतेहपुर संसदीय सीट से लोकसभा सदस्य चुन ली गर्इं। इसलिए यह सीट भी खाली हुई। 

इन दोनों सीटों के लिए सपा ने पंद्रह दिन पूर्व ही उम्मीदवारों की घोषणा कर दी। हमीरपुर सीट से सपा ने शिवचरन प्रजापति और चरखारी सीट से कप्तान सिंह राजपूत की उम्मीदवारी तय की है। भाजपा से चरखारी से गीता राजपूत व हमीरपुर से जगदीश व्यास और कांग्रेस ने हमीरपुर से केशवबाबू शिवहरे को मैदान में उतारकर मुकाबला त्रिकोणीय कर दिया है। 

बुंदेलखंड की चारों लोकसभा सीटों पर भाजपा ने अपना परचम लहराया था। उत्तर प्रदेश में खोया जनाधार वापस पाया। अब भाजपा के नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के लिए उपचुनाव चुनौती भरे हैं। इसके साथ-साथ भाजपा की जल संसाधन मंत्री उमा भारती व सांसद निरंजन ज्योति को अपनी-अपनी सीटों को बचाने के लिए मशक्कत करनी पड़ेगी। समाजवादी पार्टी ने बुंदेलखंड के लिए खनिज मंत्री गायत्री प्रजापति को किसी भी हाल में उम्मीदवारों को जिताने की जिम्मेदारी दी है। सपा ने उम्मीदवारों की घोषणा काफी पहले से करके उन्हें चुनाव की तैयारी के लिए समय दिया है जिससे उम्मीदवार यह बहाना न बना सकें कि उन्हें चुनाव लड़ने के लिये पर्याप्त समय नहीं दिया गया है। 

समाजवादी पार्टी ने चरखारी से अपने उम्मीदवार को दूसरा मौका दिया है। चरखारी के उम्मीदवार कप्तान सिंह राजपूत उमा भारती से


काफी कम अंतर से पराजित हुए थे। इसी  तरह पूर्व विधायक शिवचरन प्रजापति को हमीरपुर से उतार कर पिछड़ा कार्ड खेल दिया है। बुंदेलखंड की दोनों सीटों पर सपा ने पिछड़े वर्ग के उम्मीदवार उतारे हैं। भाजपा ने हमीरपुर से सेवानिवृत्त अध्यापक जगदीश व्यास को उम्मीदवार बनाया है। चरखारी से पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष की पत्नी गीता राजपूत को मैदान में उतार कर मुकाबला रोचक बना दिया है। कांग्रेस ने हमीरपुर से केशवबाबू शिवहरे को टिकट देकर मुकाबले को त्रिकोणीय बना दिया है। भाजपा, सपा को कोई मौका नहीं देना चाहती है। भाजपा ने उम्मीदवार के एलान में देर की, लेकिन उसके उम्मीदवार ने पूरी ताकत झोंक दी है। वहीं कांग्रेस समूचे बुंदेलखंड में लोकसभा चुनाव में अपनी जमानत भी नहीं बचा पाई थी। अब उसने हमीरपुर से मजबूत उम्मीदवार उतारकर भाजपा व सपा की मुश्किलें बढ़ा दी हैं।  

पुस्तक खरीद मामले में अधिकारियों पर कार्रवाई 

अगरतला, 31 अगस्त (भाषा)। त्रिपुरा में सरकार से बिना उचित मंजूरी लिए मुख्यमंत्री व पूर्व मुख्य सचिव की लिखी पुस्तकें खरीदने का आदेश देने पर एक सरकारी अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है और एक को चेतावनी जारी की गई है। 

विद्यालय शिक्षा निदेशक प्रदीप कुमार चक्रवर्ती ने संवाददताओं को बताया कि सरकार की अनुमति के बिना पुस्तकें खरीदने का आदेश जारी करने के लिए राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान का प्रभार देख रहे विद्यालय शिक्षा उप निदेशक अंबालिका दत्ता को नौकरी से निलंबित कर दिया गया और विद्यालय शिक्षा के अतिरिक्त निदेशक डीके देववर्मा को चेतावनी जारी की गई। 


उन्होंने बताया कि जांच जारी है और विवाद के मद्देनजर सरकार ने आदेश को रद्द कर दिया है।


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?