मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
65वें संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन: मल्लिका सहरावत ने की महिलाओं की दिक्कतों पर चर्चा PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Friday, 29 August 2014 13:44


संयुक्त राष्ट्र। बॉलीवुड अदाकारा मल्लिका सहरावत ने 65वें संयुक्त राष्ट्र डीपीआई-एनजीओ सम्मेलन में भारत में महिलाओं की दिक्कतों को रेखांकित किया । उन्होंने कहा कि कानूनों का कड़ाई से पालन किए जाने की आवश्यकता है और 

    मल्लिका ने 65वें संयुक्त राष्ट्र डीपीआई...एनजीओ सम्मेलन के दौरान ‘विषमताओं से लड़ाई-आर्थिक, सामाजिक, राजनीतिक और पर्यावरणीय’ मुद्दे पर यहां गोलमेज सम्मेलन के दौरान कहा, ‘‘हर मिनट हम कुछ नहीं करते, भारत में एक महिला प्रताड़ित जरूर होती है ।’’महिलाओं के खिलाफ भेदभाव समाप्त करने के काम में पुरूषों की भागीदारी होनी चाहिए ।


    इस 39 वर्षीय अभिनेत्री ने राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो :एनसीआरबी: के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि भारत में हर 20 मिनट में कहीं न कहीं किसी न किसी महिला के साथ बलात्कार होता है और भारत में बाल वधुओं की संख्या काफी अधिक है।

    उन्होंने कहा, ‘‘जाति व्यवस्था, पुरूष प्रधान समाज और


न्याय प्रणाली की गैर संवेदनशीलता’’ का भारत में महिलाओं की दुर्दशा में हाथ है । महिलाओं पर अत्याचार रोकने के लिए कड़े कानून जरूरी हैं ।




















मल्लिका ने कहा, ‘‘कानूनी ढांचे के मजबूत कार्यान्वयन, महिलाओं से संबंधित संवेदनशील मामलों से निपटने के लिए मजबूत न्यायिक प्रणाली’’ समय की जरूरत है ।

उन्होंने कहा कि भारत को अपनी संपूर्ण क्षमता को महसूस करने के लिए जरूरत है कि देश की महिलाओं को सशक्त बनाया जाए और बलात्कार तथा बाल विवाह जैसी महत्वपूर्ण समस्याओं का तत्काल समाधान किया जाए ।

(भाषा)

     

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?