मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
एशियाई खेलों के लिए अखिल व मैरीकाम की टीम में वापसी PDF Print E-mail
User Rating: / 1
PoorBest 
Thursday, 28 August 2014 10:07


नई दिल्ली। मुक्केबाज अखिल कुमार के करियर को लगातार चोटों के बाद लगभग खत्म हुआ मान लिया गया था, लेकिन इस करिश्माई मुक्केबाज ने कोरिया के इंचियोन में 19 सितंबर से होने वाले एशियाई खेलों के लिए 10 सदस्यीय भारतीय पुरुष टीम में शानदार वापसी की। 

बैंथमवेट 56 किग्रा वर्ग से लोकप्रियता हासिल करने वाले 33 साल के अखिल अब 19 सितंबर से चार अक्तूबर तक होने वाले एशियाई खेलों में एक वजन वर्ग ऊपर 60 किग्रा में खेलेंगे। टीम चयन के लिए पटियाला में दो दिवसीय ट्रायल बुधवार को खत्म हुआ। अखिल ने चयन के बाद कहा, मेरी वापसी हो गई है और मैंने वादा किया था कि जब मैं रिंग में जाऊंगा तो हलचल मच जाएगी। 

महिला टीम में पांच बार की विश्व चैंपियन एम सी मैरीकाम (51 किग्रा) ने राष्ट्रमंडल खेलों में बाहर किए जाने की निराशा को पीछे छोड़ते हुए टीम में जगह बनाई है। वह राष्ट्रमंडल खेलों के ट्रायल्स में कांस्य पदक जीतने वाली पिंकी जांगड़ा से हार गई थीं। उम्मीद के अनुरूप राष्ट्रमंडल खेलों की रजत पदकधारी एल सरीता देवी को 60 किग्रा वर्ग में चुना गया है। 

अखिल 2006 राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदकधारी और 2008 ओलंपिक खेलों के क्वार्टरफाइनल में पहुंचने वाले इस मुक्केबाज को अपने करियर में लगातार चोटों से जूझना पड़ा जिसके कारण वह 2012 लंदन ओलंपिक के ट्रायल्स में भी भाग नहीं ले सके थे। 

लेकिन इस अनुभवी मुक्केबाज के कभी न हार मानने वाले जज्बे का आखिरकार फायदा मिला और इसने पटियाला में एशियाई खेलों के ट्रायल्स में सभी को प्रभावित किया। अखिल ने विकास मलिक को शानदार तरीके से हराने


के बाद बुधवार को रोहित टकास के खिलाफ अंतिम बाउट जीती। 

विश्व कप कांस्य पदकधारी अखिल ने इसका श्रेय अपनी पत्नी पूनम बेनीवाल को देते हुए कहा, मेरे लिए चुनौती देना और खुद को साबित करना अहम था। मेरे सारे प्रयास सही दिशा में थे। उन्होंने कहा, मेरी पत्नी मेरे प्रयासों की ताकत थीं। 

अखिल ने राष्ट्रीय कोच गुरबक्श सिंह संधू का उन पर भरोसा कायम रखने के लिए शुक्रिया अदा किया। अखिल ने राष्ट्रीय टीम के लिए अंतिम प्रतियोगिता में 2011 विश्व चैम्पियनशिप में भाग लिया था। 

पुरुष टीम में अन्य कोई हैरानी भरा फैसला नहीं हुआ है। राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदकधारी एल देवेंद्रो सिंह (49 किग्रा) और मंदीप जांगड़ा (69 किग्रा) ने उम्मीद के मुताबिक टीम में जगह बनाई है। 

स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह को चोट के कारण एशियाड से हटना पड़ा जिससे उनकी जगह विकास कृष्ण ने ली है जिन्होंने 2011 विश्व चैंपियनशिप में 64 किग्रा में कांस्य पदक अपने नाम किया था। यह विकास से लिए भी वापसी थी जिन्हें चोटों ने सुर्खियों से दूर रखा। 

 एशियाई खेलों की टीम इस प्रकार है : 

पुरुष : एल देवेंद्रो सिंह (49 किग्रा), मदन लाल (52 किग्रा), शिव थापा (56 किग्रा), अखिल कुमार (60 किग्रा), मनोज कुमार (64 किग्रा), मंदीप जांगड़ा (69 किग्रा), विकास कृष्ण (75 किग्रा), कुलदीप सिंह (81 किग्रा), अमृतप्रीत सिंह (91 किग्रा), सतीश कुमार (91 किग्रा से अधिक)। 

महिला : एमसी मैरीकाम (51 किग्रा), एल सरीता देवी (60 किग्रा), पूजा रानी (75 किग्रा)। 

(भाषा)


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?