मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
रत्ती भर भी सबूत मिले तो छोड़ दूंगा राजनीति : राजनाथ सिंह PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Wednesday, 27 August 2014 15:51


नई दिल्ली। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने या अपने परिवार की ओर से किए गए कदाचार की अफवाहों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि अगर ऐसे आरोप प्रथम दृष्ट्या साबित हो गए तब वह राजनीति छोड़ देंगे और घर बैठ जाएंगे। 


    राजनाथ ने कहा कि उनके परिवार की ओर से कथित कदाचार की अफवाह पिछले पखवाडे से फैलायी जा रही है। 

    उन्होंने कहा, ‘‘ पिछने 15-20 दिनों में मेरे और मेरे परिवार के बारे में लगातार ऐसी अफवाहें फैलायी जा रही हैं। मैं समझ रहा था कि अफवाहों का कोई आधार नहीं होने से यह कुछ दिनों में समाप्त हो जाएगी।’’

    नार्थ ब्लाक में कार्यालय के बाहर संवाददाताओं से बातचीत में राजनाथ ने कहा, ‘‘ लेकिन मैं देख रहा हूं कि यह दिन प्रतिदिन तेज हो रहा है। मैं देश को आश्वस्त करना चाहता हूं कि जिस दिन आरोप प्रथम दृष्टया या इसका छोटा सा हिस्सा भी मेरे या मेरे परिवार के खिलाफ साबित हो जाएगा, मैं राजनीति और सार्वजनिक जीवन छोड़ दूंगा और घर बैठ जाऊंगा।’’ 

 गृह मंत्री ने कहा कि उन्होंने इसके बारे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को बता दिया है और दोनों ने इस मुद्दे पर आश्चर्य व्यक्त किया है


और इन आरोपों को पूरी तरह से आधारहीन बताया है। 

    राजनाथ ने कहा, ‘‘ मैंने इस बारे में प्रधानमंत्री और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को बताया जब हम साथ बैठे थे। उन्होंने इस पर आश्चर्य व्यक्त किया और इसे पूरी तरह से आधाहीन करार दिया।’’ 

    गृह मंत्री की प्रतिक्रिया ऐसे समय में सामने आई है जब मीडिया में ऐसी खबरें आई कि मंत्रिपरिषद में एक सहयोगी और पार्टी में प्रतिद्वन्द्वी ऐसी अफवाह फैला रहे हैं कि प्रधानमंत्री ने उनके पुत्र पंकज सिंह की कथित कदाचार के लिए खींचाई की। 

    यह पूछे जाने पर कि इन अफवाहों को फैलाने के पीछे कौन है, गृह मंत्री ने कहा कि यह पता करना खोजी पत्रकारों का काम है। 

   यह पूछे जाने पर कि क्या यह काम राजनीतिक प्रतिद्वन्द्वियों का होने की संभावना है, राजनाथ से सीधे जवाब देने से बचते हुए कहा, ‘‘ मुझे कुछ नहीं कहना है।’’ 

   गृह मंत्री ने हालांकि इस बात से इंकार किया कि उन्होंने इन अफवाहों के बारे में आरएसएस से शिकायत की। 

    उन्होंने कहा, ‘‘ मैंने संघ से कोई बात नहीं की।’’

(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?