मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
ऑस्ट्रेलिया की जिंबाब्वे पर बड़ी जीत PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Tuesday, 26 August 2014 10:48


हरारे। ‘मैन आफ द मैच’ मिशेल मार्श और अपने तूफानी तेवरों के लिए मशहूर ग्लेन मैक्सवेल की धुआंधार पारियों से बड़ा स्कोर खड़ा करने वाले आस्ट्रेलिया ने त्रिकोणीय एकदिवसीय क्रिकेट शृंखला के पहले मैच में सोमवार को यहां जिंबाब्वे पर 198 रन की बड़ी जीत दर्ज की। 

एरोन फिंच (67) और ब्रैड हैडिन (46) से मिली ठोस शुरुआत के बाद मार्श और मैक्सवेल ने चौथे विकेट के लिए मात्र नौ ओवरों में 109 रन की साझेदारी की जिससे आस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने पर छह विकेट पर 350 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे मार्श ने 83 गेंदों पर 89 रन बनाए जबकि मैक्सवेल ने केवल 46 गेंदों पर 93 रन ठोके। आस्ट्रेलिया ने आखिरी दस ओवरों में 147 रन बनाए। 

जिंबाब्वे की तरफ से केवल हैमिल्टन मास्कदजा ही आस्ट्रेलिया के तेज और स्पिन आक्रमण का डटकर सामना कर पाए। उन्होंने 70 रन बनाए लेकिन इसके बावजूद जिंबाब्वे की टीम 39.3 ओवर में 152 रन पर ढेर हो गई। 

इस तरह से आस्ट्रेलिया ने जिंबाब्वे के खिलाफ रनों के लिहाज से बड़ी जीत दर्ज की। इससे उसे पांच अंक मिले। आस्ट्रेलिया के लिए स्टीवन स्मिथ ने 16 रन देकर तीन विकेट लिए जबकि मिशेल स्टार्क और नाथन लियोन ने दो-दो विकेट हासिल किए। त्रिकोणीय शृंखला की तीसरी टीम दक्षिण अफ्रीका है। 

जिंबाब्वे के लिए मास्कादजा और सिकंदर रजा (33) ने दूसरे


विकेट के लिए 63 रन की साझेदारी की। रजा के आउट होने के बाद विकेटों का पतन शुरू  हो गया। इससे पहले आस्ट्रेलिया ने अपनी पारी में रेकार्ड 15 छक्के जड़े। इनमें से नौ छक्के मार्श और मैक्सवेल के बल्लों से निकले। यह आस्ट्रेलिया की तरफ से जिंबाब्वे के खिलाफ छक्कों का नया रेकार्ड है। यही नहीं आस्ट्रेलिया का यह जिंबाब्वे के खिलाफ वनडे में सर्वोच्च स्कोर भी है। इससे पहले उसने जनवरी 2004 में होबार्ट में सात विकेट पर 344 रन बनाए थे। 

जिंबाब्वे ने टास जीतकर आस्ट्रेलिया को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। एरोन फिंच और ब्रैड हैडिन ने पहले विकेट के लिए 98 रन जोड़कर आस्ट्रेलिया को ठोस शुरुआत दी। जिंबाब्वे के कप्तान एल्टन चिगुंबुरा ने हैडिन को बोल्ड किया जबकि फिंच ने स्पिनर जान नयुंबु की गेंद पर बैकवर्ड स्क्वायर लेग पर कैच थमाया। चोटिल माइकल क्लार्क की जगह कप्तानी कर रहे जार्ज बैली (14) अधिक देर तक नहीं टिक पाए। इसके बाद मार्श और मैक्सवेल ने ताबड़तोड़ रन बटोरे। इन दोनों ने अपने करियर का सर्वोच्च स्कोर बनाया लेकिन शतक के करीब पहुंचने के बाद उन्होंने गेंद हवा में लहराकर कैच थमाए। मार्श ने अपनी पारी में सात चौके और छक्के जबकि मैक्सवेल ने नौ चौके और पांच छक्के लगाए। 

(भाषा)


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?