मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
हीरो ने जर्मनी की कंपनी एमआईएफए में 60 प्रतिशत हिस्सेदारी का किया अधिग्रहण PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Monday, 25 August 2014 14:04


नई दिल्ली। साइकिल बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी हीरो साइकिल्स ने जर्मनी की साइकिल कंपनी एफआईएफए में 60 प्रतिशत हिस्सेदारी 1.5 करोड़ यूरो में अधिग्रहण किया है।

    हीरो जर्मन कंपनी के पुनर्गठन में 40 लाख यूरो अतिरिक्त पूंजी व्यय करेगी।

    कंपनी के सूत्रों ने बताया, ‘‘सौदा 1.9 करोड़ यूरो का है। 1.5 करोड़ यूरो 60 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिये तथा कंपनी के पुनर्गठन में 40 लाख यूरो अतिरिक्त खर्च किया जाएगा।’’

     कंपनी के पास एमआईएफए में और हिस्सेदारी बढ़ाने का विकल्प है।

     हीरो ने बयान में कहा, ‘‘साइकिल उद्योग में अपनी तरह का यह पहला गठजोड़ है। भारतीय कंपनी, यूरोपीय कंपनी को लागत प्रभावी विनिर्माण आधार और आपूर्ति श्रृंखला उपलब्ध कराएगी और कंपनी को यूरोपीय इकाई से ई साइकिल के लिए महत्वपूर्णप्रौद्योगिकी मिलेगी तथा खासकर ई-बाइक


के मामले में आकर्षक यूरोपीय बाजार में पहुंच होगी।’’  

    एमआईएफए यूरोप में साइकिल खंड में विशेषज्ञ इकाई है उसकी आय करीब 10 करोड़ यूरो है। कंपनी ने हाल ही में यूरोप में ‘ग्रेस’ ब्रांड से ई-बाइक पेश कर इस क्षेत्र में कदम रखा।   

    इस अधिग्रहण से हीरो साइकिल्स को ई-बाइक्स में इस्तेमाल होने वाली महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकी इलेक्ट्रानिक ड्राइव यूनिट (ईडीयू) मिल पाएगी।

    हीरो साइकिल्स के सह-अध्यक्ष तथा प्रबंध निदेशक पंकज मुंजाल ने कहा, ‘‘हीरो साइकिल न केवल एमआईएफए को विनिर्माण आधार उपलब्ध कराएगी बल्कि एमआईएफए की जर्मन इंजीनियरिंग विशेषज्ञता का उपयोग का भारतीय बाजार में उच्च गुणवत्ता वाली ई-साइकिल पेश करेगी।’’

(भाषा)


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?