मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
‘पाकिस्तान में संविधानेतर बदलावों का समर्थन नहीं करता अमेरिका’ PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Thursday, 21 August 2014 12:04


  वाशिंगटन। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और विपक्ष के दो अहम नेताओं के बीच कायम गतिरोध के दौरान अमेरिका ने कहा है कि वह पाकिस्तान में ऐसे किसी भी बदलाव का समर्थन नहीं करता, जो संविधान के दायरे से बाहर हो। दोनों नेता चुनावों में धांधली और भ्रष्टाचार के आरोपों के तहत शरीफ का इस्तीफा मांग रहे हैं।

      विदेश मंत्रालय की उपप्रवक्ता मेरी हार्फ ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘हम पाकिस्तान में संवैधानिक और चुनावी प्रक्रिया का समर्थन करते हैं, जिसने नवाज शरीफ को प्रधानमंत्री के रूप में चुना। उन्होंने एक प्रक्रिया का पालन किया, वहां चुनाव हुए और हमारा ध्यान पाकिस्तान के साथ काम करने पर केंद्रित हैं।’’  हार्फ ने कहा, ‘‘हम संविधान के दायरे से बाहर के किसी भी ऐसे बदलाव का समर्थन नहीं


करते, जिसे उस लोकतांत्रिक व्यवस्था या जनता पर थोपने का प्रयास किया जा रहा है।’’ 

      पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता इमरान खान और पाकिस्तान आवामी तहरीक के नेता ताहिर उल-कादरी के नेतृत्व में शरीफ सरकार के खिलाफ किए जा रहे विरोध प्रदर्शनों ने पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद को एक तरह से बंद ही कर दिया है। इससे सैन्य तख्तापलट का इतिहास रखने वाले इस देश में अशांति का अंदेशा बढ़ गया है।

      बहरहाल, इस संकट को हल करने के लिए पीएटी और पीटीआई के प्रतिनिधिमंडल सरकार के साथ बातचीत में शामिल हुए। इसके चलते कल प्रदर्शनकारी शांत रहे।

(भाषा)


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?