मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
IPL7: फ़ाइनल में साहा पर भारी पांडे, केकेआर फिर बना चैंपियन PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Monday, 02 June 2014 00:27

altबेंगलूर। आईपीएल में भारत के पहले शतकवीर मनीष पांडे

की 94 रन की बेजोड़ पारी आखिर में रिद्धिमान साहा के शानदार शतकीय प्रयास पर भारी पड़ गई जिससे कोलकाता नाइटराइडर्स ने आज यहां पहली बार फाइनल में पहुंचे किंग्स इलेवन पंजाब को उतार चढ़ाव वाले फाइनल में तीन विकेट से हराकर दूसरी बार इस टी20 टूर्नामेंट का खिताब जीता। 

इससे पहले 2012 में पहली बार खिताब जीतने वाले केकेआर की जीत के नायक बेंगलूर के पांडे रहे जिन्होंने अपने घरेलू मैदान पर 50 गेंद पर 94 रन की पारी खेली। इस 24 वर्षीय बल्लेबाज ने सात चौके और छह छक्के लगाए। उनके अलावा यूसुफ पठान ने चार छक्कों की मदद से 36 रन की पारी खेली लेकिन आखिर में पीयूष चावला (नाबाद 13) भी जीत के नायक बन गए। उन्होंने विषम परिस्थितियों में छक्का और विजयी चौका लगाकर टीम का स्कोर 19.3 ओवर में सात विकेट पर 200 रन पर पहुंचाया। 

केकेआर की जीत से साहा की बेहतरीन पारी का मजा किरकिरा हो गया। उन्होंने 55 गेंद पर नाबाद 115 रन बनाए। जिसमें दस चौके और आठ छक्के शामिल हैं। उन्होंने सलामी बल्लेबाज मनन वोहरा (67) के साथ 72 गेंदों पर 129 रन की साझेदारी की टीम का स्कोर चार विकेट पर 199 रन तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। किंग्स इलेवन ने आखिरी दस ओवरों में 141 रन बनाए। 

बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरे केकेआर ने अपने पहले ओवर में ही रोबिन उथप्पा (5) का विकेट गंवा दिया। उथप्पा ने इस सत्र में 16 मैचों में सर्वाधिक 600 रन बनाकर ऑरेंज कैप हासिल की। लेकिन आज मिशेल जॉनसन की कोण लेती गेंद पर करारा शॉट लगाने के प्रयास में उन्होंने प्वॉइंट पर कैच दे दिया। ऐसा पहली बार हुआ जबकि विजेता टीम के बल्लेबाज को ऑरेंज कैप मिली। 

कप्तान गौतम गंभीर (23) और पांडे ने सहजता से रन बटोकर पावरप्ले की समाप्ति पर स्कोर 59 रन तक पहुंचाया। इसके बाद पहली बार करणवीर सिंह के रूप में स्पिन आक्रमण लगाया गया। गंभीर ने उनकी पहली ही गेंद ही हवा में लहरा दी और डेविड मिलर ने दौड़ कर उसे कैच में बदल दिया। करणवीर ने चार विकेट लिए लेकिन इसके लिए उन्होंने 54 रन लुटाए। 

पठान ने करणवीर के अगले ओवर में लगातार दो छक्के लगाए, लेकिन जॉर्ज बैली से जीवनदान पाने वाले पांडे ने न सिर्फ एक छोर संभाले रखा बल्कि इस बीच करारे शॉट भी जमाए। करणवीर पर कवर और परविंदर अवाना के एक ओवर में लगाए गए दोनों छक्के दर्शनीय थे। उन्होंने इस बीच 31 गेंदों पर अपना अर्धशतक भी पूरा किया। 

इसके बाद जब पठान ने लक्ष्मीपति बालाजी पर दो छक्के लगाए तो साहा की आक्रामकता पर उछलने वाली किंग्स इलेवन की सह मालकिन प्रीति जिंटा का चेहरा भी उतर गया। करणवीर ने अगले ओवर में जब पठान को कैच आउट कराया तो किंग्स इलेवन के प्रशंसकों में जान आई लेकिन पांडे ने इसी ओवर में एक छक्का और चौका जड़कर उनकी खुशी काफूर कर दी। 

शाकिब अल हसन (12) और रेयान टेन डोएसे (4) ज्यादा देर नहीं टिक पाए। पांडे ने इन दोनों को आउट करने वाले करणवीर पर छक्का और चौका लगाकर शतक के करीब पहुंचे लेकिन इसी ओवर की आखिरी गेंद पर बैली को आसान कैच दे बैठे। जब पांडे आउट हुए तब केकेआर को 18 गेंद पर 21 रन चाहिए थे। ऐसे


में जब तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई थी तब पीयूष चावला ने जॉनसन पर छक्का जड़कर केकेआर की उम्मीदों पर पंख लगाए। आखिरी ओवर में केकेआर को जीत के लिए पांच रन चाहिए थे। चावला ने अवाना की फुलटॉस पर विजयी चौका जड़ा।  

इससे पहले बल्लेबाजी का न्यौता पाने वाले किंग्स इलेवन की पारी साहा और वोहरा के इर्द गिर्द घूमती रही। उसके चार धुरंधरों वीरेंद्र सहवाग (7), कप्तान जॉर्ज बैली (1), ग्लेन मैक्सवेल (0) और डेविड मिलर (नाबाद 01) ने मिलकर नौ रन का योगदान दिया।  

पंजाब ने बल्लेबाजी क्रम में बदलाव करके रक्षात्मक नीति अपनाई लेकिन साहा ने वोहरा के साथ मिलकर इसमें आक्रामकता का पुट भर दिया। वोहरा ने आठवें ओवर में चावला पर पारी का पहला छक्का जड़कर पंजाब के समर्थकों में जोश भरा। इसके बाद चिन्नास्वामी स्टेडियम साहा के तूफानी तेवरों का गवाह बना। उन्होंने शाकिब की गेंद पर मिडविकेट पर छह रन के लिए भेजी तथा चावला पर लगातार दो छक्के लगाए। 

साहा ने नारायण को विशेष निशाना बनाया और उन पर तीन छक्के और इतने ही चौके लगाए। उन्होंने और वोहरा ने मोर्कल के एक ओवर में छक्के जड़कर उनको भी प्रभावहीन किया। नारायण के पास साहा से बदला चुकता करने का मौका था लेकिन उन्होंने अपनी ही गेंद पर उनका हवा में लहराता कैच छोड़ दिया। साहा ने इसका फायदा उठाकर 17वें ओवर में उमेश पर पहले दो चौके और फिर साइटस्क्रीन के पास छक्का जमा दिया। 

चावला ने अपनी ही गेंद पर दूसरे प्रयास में वोहरा का कैच लिया और फिर आखिरी गेंद पर नए बल्लेबाज मैक्सवेल को थर्ड मैन पर कैच कराया। बिग हिटर मैक्सवेल का रिवर्स स्वीप सीधे मोर्कल के हाथों में चला गया था। नारायण जब 19वां ओवर करने आए तो साहा ने स्क्वॉयर लेग पर छक्का, मिडविकेट पर चौका और फिर लॉन्ग ऑन पर छक्का लगाया। इस छक्के से उन्होंने अपने करियर का पहला टी20 शतक भी पूरा किया। इसके लिए उन्होंने केवल 49 गेंद खेली। केकेआर की तरफ से चावला ने 44 रन देकर दो विकेट लिए। 


 किंग्स इलेवन पंजाब 

 वीरेंद्र सहवाग का गंभीर बो उमेश यादव 07

 मनन वोहरा का एवं बो चावला 67

 जॉर्ज बैली बो नारायण 01

 रिद्धिमान साहा नाबाद 115

 ग्लेन मैक्सवेल का मोर्कल बो चावला 00 

 डेविड मिलर नाबाद 01


 अतिरिक्त 08

 कुल : 20 ओवर में, चार विकेट पर : 199

 विकेट पतन : 1-23, 2-30, 3-159, 4-170


 गेंदबाजी 

 मोर्कल 4-0-40-0

 उमेश यादव 4-0-39-1

 नारायण 4-0-46-1

 शाकिब अल हसन 4-0-26-0

 चावला 4-0-44-2


 कोलकाता नाइटराइडर्स 

 रोबिन उथप्पा का पटेल बो जॉनसन 05

 गौतम गंभीर का मिलर बो करणवीर 23 

 मनीष पांडे का बैली बो करणवीर 94

 यूसुफ पठान का मैक्सवेल बो करणवीर 36

 शाकिब अल हसन रन आउट 12

 रेयान टेन डोएसे का मिलर बो करणवीर 04

 सूर्यकुमार यादव का वोहरा बो जॉनसन 05

 पीयूष चावला नाबाद 13

 सुनील नारायण नाबाद 02


 अतिरिक्त 06

 कुल : 19.3 ओवर में, सात विकेट पर : 200

 विकेट पर : 1-6, 2-59, 3-130, 4-156, 5-168, 6-179, 7-187


 गेंदबाजी 

 जॉनसन 4-0-41-2

 बालाजी 4-0-41-0

 अवाना 3.3-0-43-0

 करणवीर 4-0-54-4

 अक्षर पटेल 4-0-21-0

 (भाषा) 

 





आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?