मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
IPL-7: चेन्नई के खिलाफ प्रतिष्ठा बचाने खेलेगी बंगलूर PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Saturday, 24 May 2014 09:02

altबंगलूर। प्लेऑफ की दौड़ से बाहर होने के बाद रॉयल चैलेंजर्स बंगलूर

आइपीएल के अपने आखिरी लीग मैच में आज खिताब के प्रबल दावेदार चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ सिर्फ सम्मान बचाने के लिए खेलेगी।

कोलकाता नाइट राइडर्स के हाथों गुरुवार को 30 रन से हार के बाद रॉयल चैलेंजर्स बंगलूर की प्लेऑफ खेलने की उम्मीदें ध्वस्त हो गई। युवराज सिंह को 14 करोड़ रुपए में खरीदने वाले टीम मालिक विजय माल्या को इससे करारा झटका लगा होगा। पिछले आइपीएल में 600 रन बनाने वाले कप्तान विराट कोहली भी इस बार बुरी तरह फ्लॉप रहे। रॉयल चैलेंजर्स बंगलूर शनिवार को चेन्नई को हराकर टूर्नामेंट से सम्मानजनक विदाई लेना चाहेगी लेकिन महेंद्र सिंह धोनी की टीम के मौजूदा फॉर्म को देखते हुए यह आसान नहीं लगता। चेन्नई प्लेऑफ में जगह बना चुका है लेकिन उसका इरादा आज सनराइजर्स हैदराबाद से मिली छह विकेट से हार से उबरकर जीत की राह पर लौटने का होगा। वे रॉयल चैलेंजर्स बंगलूर से 18 मई के मैच में मिली हार का बदला भी चुकता करना चाहेंगे।

रॉयल चैलेंजर्स बंगलूर की बल्लेबाजी सबसे मजबूत मानी जा रही थी लेकिन वही उसकी कमजोर कड़ी साबित हुई है। क्रिस गेल, पार्थिव पटेल का खराब फॉर्म टीम के लिए चिंता का


सबब रहा है और युवराज पर अधिक निर्भरता का उसे खामियाजा भुगतना पड़ा। कोहली ने हैदराबाद के खिलाफ इस सत्र का अपना पहला अर्धशतक बनाकर फॉर्म में वापसी की। गेंदबाजी में यजुवेंद्र चहल और मिशेल स्टार्क को छोड़कर आइसीबी का कोई गेंदबाज नहीं चल सका है।

दूसरी ओर चेन्नई का लक्ष्य कोलकाता नाइट राइडर्स और हैदराबाद से मिली हार के बाद जीत की राह पर लौटने का होगा। फिलहाल वह 13 मैचों में 16 अंक लेकर दूसरे स्थान पर है। सलामी बल्लेबाज ड्वेन स्मिथ ने हैदराबाद के खिलाफ 47 रन बनाए और वे इस फॉर्म को बरकरार रखना चाहेंगे। फाफ डु प्लेसिस अभी तक उपयोगी पारी नहीं खेल सके हैं। धोनी ने टूर्नामेंट का पहला अर्धशतक बनाया। इस आइपीएल में वे 13 पारियों में 44 की औसत से 280 रन बना चुके हैं। गेंदबाजी में तेज गेंदबाज मोहित शर्मा ने 15.22 की प्रभावी औसत से 18 विकेट लिए हैं।

 

(भाषा) 

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?