मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
IPL-7:पंजाब की निगाहें जीत दर्ज करने पर PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Wednesday, 21 May 2014 19:24

altजनसत्ता संवाददाता

मोहाली। आइपीएल के सातवें सत्र में चमकदार प्रदर्शन करने वाली किंग्स इलेवन पंजाब

की टीम बुधवार को अपने घरेलू मैदान पर मुंबई इंडियंस के खिलाफ भिड़ेगी तो उसकी कोशिश जीत के लय को बरकरार रखने को होगी। आइपीएल में नौ मैच जीत कर अंक तालिका में टॉप पर बरकरार पंजाब की टीम ने प्लेऑफ के लिए लगभग क्वॉलीफाई कर लिया है। इस सत्र में अब तक खेले गए ग्यारह में से नौ मैच उसने जीते हैं इसलिए वह उम्मीदों से भरी है और घरेलू दर्शकों को भी उम्मीद है कि पंजाब की टीम मुंबई पर आसान जीत दर्ज कर प्लेऑफ में क्वऑलीफाई कर लेगी। 

आइपीएल के सातवें सीजन में पंजाब ने हर क्षेत्र में और टीम के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया है। टीम जीत के रथ पर सवार है तो खिलाड़ियों में आत्मविश्वास भी है। बुधवार को वह इसी आत्मविश्वास के सहारे मैदान पर उतरेगी और घरेलू दर्शकों के सामने चमकदार प्रदर्शन करना चाहेगी। जिस तरह का प्रदर्शन टीम कर रही है उसे देखते हुए उसकी जीत तय मानी जा रही है। यह बात अलग है कि क्रिकेट में कब कौन सी टीम चमत्कार कर दे, कहा नहीं जा सकता। हालांकि इस सत्र में मुंबई का प्रदर्शन चमकदार नहीं रहा है, बावजूद इसके कि वह पिछली बार चैंपियन बनी थी। सोमवार को पंजाब ने दिल्ली डेयरडेविल्स को हराया था। दिलचस्प बात यह है कि दिल्ली के खिलाफ फॉर्म में चल रहे ताबड़तोड़ करने वाले रनबाज मैक्सवेल नहीं चल पाए और न ही मिलर का बल्ला बोला। लेकिन दिल्ली के खिलाप नमन वोहरा और अक्षर पटेल ने बल्ले से कमाल किया और टीम को जीत दिलाई। इससे पहले आइपीएल में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2008 के शुरुआती चरण में रहा था जिसमें वह सेमीफाइनल चरण तक पहुंची थी। 

इस सत्र में ताबड़तोड़ कर रन बनाने में अव्वल ग्लेन मैक्सवेल टीम के स्टार खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अभी तक 531 रन बनाए हैं। युवा खिलाड़ी अक्षर पटेल, ऋद्धिमन साहा और मनन वोहरा ने बल्लेबाजी विभाग जबकि संदीप शर्मा, अक्षर पटेल ने गेंदबाजी में दबाव भरे हालात में काफी परिपक्वता दिखाई है। बल्लेबाजी में शीर्ष क्रम में वीरेंद्र सहवाग की मौजूदगी से मजबूत हुआ


है, जिनकी कंपनी में युवा बल्लेबाज जैसे वोहरा को अपनी प्रतिभा दिखाने का काफी मौका मिला। ज्यादा से ज्यादा रन जुटाना टीम का 'गुरुमंत्र' रहा है, जैसा कि कप्तान जॉर्ज बैली ने कहा कि हर टीम महत्त्वपूर्ण थी क्योंकि इससे खिलाड़ियों के आत्मविश्वास से काफी बढ़ोतरी हुई। 

 

बैली ने कहा, 'मुझे लगता है कि जीतने से आपका आत्मविश्वास और दृढ़विश्वास बढ़ता है। खेल के इस प्रारूप में ये दोनों सचमुच काफी अहम चीजें हैं।' टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन का लुत्फ उठाते हुए पंजाब के मजबूत बल्लेबाजी लाइन अप ने अभी तक दो बार 200 से ज्यादा के स्कोर का सफलतापूर्वक पीछा किया गया है और चेन्नई सुपरकिंग्स के साथ मजबूत बल्लेबाजी टीम दिखती है। गेंदबाजी विभाग में पीसीए स्टेडियम की उछाल भरी पिच पंजाब के मध्यम गति के गेंदबाज संदीप शर्मा की पसंदीदा होगी जो गेंद को स्विंग करने की काबिलियत रखते हैं जबकि टीम युवा और दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाज बेरॉन हेंडरिक्स से आज अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद लगाए होगी। वहीं मुंबई के लिए आज पंजाब को हराना मुश्किल चुनौती साबित होगी। उन्होंने अभी तक खेले 11 में से केवल चार मैचों में जीत दर्ज की। मुंबई की टीम लेंडिल सिमंस और माइक हसी से बल्लेबाजी में वैसे ही प्रदर्शन की उम्मीद कर रही होगी जैसा उन्होंने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ दिखाया, जिसमें उन्होंने क्रमश: 62 और 56 रन की अर्धशतकीय पारियां खेलीं। 

पीसीए पिच में बल्लेबाजों और गेंदबाजों के लिए हमेशा कुछ न कुछ मौजूद होता है और यह किरोन पोलार्ड जैसे बल्लेबाज की पसंदीदा होनी चाहिए। मुंबई की टीम अपने सीनियर गेंदबाज और ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह से अपने अनुभव का इस्तेमाल करने की उम्मीद लगाए होगी। उनकी टीम में श्रीलंकाई स्टार तेज गेंदबाज लासिथ मालिंगा भी शामिल हैं जिनके नाम टूर्नामेंट में सर्वाधिक विकेट हैं।


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?