मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
चेन्नई की निगाहें औपचारिकता पूरी करने पर, हैदराबाद से होगी भिड़ंत PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Wednesday, 21 May 2014 15:41

रांची। प्ले ऑफ में जगह सुनिश्चित कर चुकी चेन्नई सुपरकिंग्स कल यहां सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ होने वाले आईपीएल सात के मैच के जरिए जल्द ही कोलकाता नाइटराइडर्स के हाथों मिली शिकस्त से उबरने का लक्ष्य बनाए होगी।


     चेन्नई की टीम 12 मैचों में आठ जीत और चार हार से 16 अंक लेकर तालिका में दूसरे स्थान पर चल रही है। वहीं हैदराबाद की टीम 12 मैचों में महज पांच जीत से 10 अंक लेकर नीचे से तीसरे स्थान पर है। 

     चेन्नई को बीती रात कोलकाता में केकेआर के खिलाफ शिकस्त मिली जिसकी उम्मीद नहीं थी। लेकिन यह उनकी खराब बल्लेबाजी का ही परिणाम था। अब टीम सुनिश्चित करना चाहेगी कि नाकआउट चरण मैचों से पहले उनका बल्लेबाजी लाइन अप आत्मविश्वास से भरा हो। 

     सलामी बल्लेबाज ड्वेन स्मिथ और ब्रैंडन मैकुलम दोनों ने अभी तक चेन्नई के अभियान में काफी अच्छा योगदान दिया है, लेकिन कल ये दोनों नहीं चल सके और अब कल हैदराबाद के खिलाफ इसकी भरपायी करना चाहेंगे। 

 

     सुरेश रैना ने हालांकि इस आईपीएल सत्र में अपना तीसरा अर्धशतक ठोका, वह ठीक समय पर फार्म में आ रहे हैं। फाफ डु प्लेसिस हालांकि थोड़ी चिंता बने हुए हैं क्योंकि वह अभी तक टीम के लिये कोई भी उपयोगी योगदान नहीं कर सके हैं। 

  कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अपना काम बिना किसी हलचल के कर रहे हैं, हालांकि वह इस सत्र में अर्धशतक नहीं जड़ पाए हैं। बड़ी पारी नहीं खेलने के बावजूद धोनी का औसत 44.60 रहा है और उनके 12 पारियों में 223 रन


हैं, जिसमें से सात नाबाद पारिया हैं। 

     गेंदबाजी में चेन्नई की कुछ कमियों का खुलासा कल हो गया था, उनके सबसे भरोसेमंद तेज गेंदबाज मोहित शर्मा एक भी विकेट हासिल नहीं कर सके। 

     मोहित चेन्नई के लिये गेंदबाजी स्टार रहे हैं, उन्होंने 18 विकेट हासिल किये हैं। वह सर्वाधिक विकेट चटकाने वालों की सूची में दूसरे नंबर पर हैं। 

     हैदराबाद की टीम हालांकि दौड़ से बाहर हो गयी हैं लेकिन आंकड़ों के हिसाब से कल रायल चैलेंजर्स बेंगलूर को हराकर उनके पास मौका बना हुआ है। 

     डेरेन सैमी की हैदराबाद टीम को बचे हुए दो मैच जीतने के अलावा उम्मीद करनी होगी कि कुछ अन्य परिणाम उनके हक में जायें, ताकि वे शीर्ष चार में जगह बना लें, लेकिन यह असंभव दिखता है। 

     हैदराबाद ने हालांकि बेंगलूर के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया। शिखर धवन ने कप्तानी के बोझ से उबरते हुए इस सत्र में अपना पहला अर्धशतक जड़ा। 

     डेविड वार्नर ने सत्र में अपना पांचवां अर्धशतक जड़ते हुए शानदार फार्म जारी रखी। उन्होंने 12 मैचों में 48.22 के औसत से 434 रन बनाए हैं जो आईपीएल में हैदराबाद बल्लेबाज द्वारा एक रिकॉर्ड है। 

     गेंदबाजी में हैदराबाद के पास सत्र के सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले भुवनेश्वर कुमार हैं, जिन्होंने 20 विकेट हासिल किये हैं। उनके पास डेल स्टेन भी है लेकिन दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाज इस सत्र में कोई धमाल नहीं दिखा सका है। 

     (भाषा)


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?