मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
'देखो और इंतजार करो' की नीति पर चलना होगा: कोहली PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Tuesday, 20 May 2014 22:20

हैदराबाद। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर की हार से निराश कप्तान विराट कोहली

ने आज स्वीकार किया कि उनकी टीम को आईपीएल सात के प्लेऑफ में जगह बनाने की संभावना जानने के लिए अब ‘देखो और इंतजार करो’ की नीति अपनानी होगी। 

आरसीबी आज सनराइजर्स हैदराबाद से सात विकेट से हार गया था। वह अंकतालिका में पांचवें स्थान पर है और उसे अभी दो मैच और खेलने हैं लेकिन अगले दो मैचों में जीत से वह प्लेऑफ के लिए क्वॉलीफाई नहीं कर पाएगा क्योंकि उसका भाग्य अन्य टीमों के प्रदर्शन पर निर्भर करेगा। 

कोहली ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘इस मैच से पहले सब कुछ हमारे हाथ में था। हमें चीजें अपने नियंत्रण में रखने के लिए यह मैच जीतना चाहिए था लेकिन अब हमें देखो और इंतजार करो की नीति पर चलना होगा। हमें अन्य टीमों के प्रदर्शन पर भी गौर करना है। उम्मीद है कि हमें अनुकूल परिणाम मिलेंगे लेकिन यह अच्छी स्थिति नहीं है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम पिछले साल भी इस तरह की स्थिति में थे लेकिन हम अच्छी क्रिकेट खेलकर उस स्थिति में पहुंचे थे जहां चीजें हमारे नियंत्रण में थी और हम तय कर सकते थे कि हमें आखिरी तीन मैच कैसे खेलने हैं। लेकिन इस साल हम अपनी लय बरकरार नहीं रख पाए। ’’

कोहली इसलिए भी निराश थे कि उनकी अच्छी पारी टीम के काम नहीं आई। उन्होंने 67 रन बनाए लेकिन इसके बावजूद आरसीबी


बड़ा स्कोर नहीं बना पाया। उन्होंने कहा, ‘‘आखिर में अपनी रणनीति के अनुसार खेल नहीं दिखा पाए और इसका हमें खामियाजा भुगतना पड़ा। सनराइजर्स ने दूसरी पारी में अच्छा खेल दिखाया। हमने अच्छी वापसी की लेकिन अंत अच्छा नहीं कर पाए। मेरे कहने का मतलब है कि जब दो ओवर में 22 रन चाहिए थे तब हम अच्छी स्थिति में थे। हमें इसका बचाव करना चाहिए था। यदि आप यॉर्कर नहीं कर सकते तो फिर आखिरी ओवरों में आपको नुकसान उठाना पड़ेगा।’’

कोहली ने कहा कि गेंदबाजी विभाग की कमजोरियों के कारण आरसीबी को आज का मैच गंवाना पड़ा। उन्होंने कहा, ‘‘टी20 में मैच छोटा होता है और आपको केवल दो अच्छे ओवर की जरूरत नहीं पड़ती बल्कि मैच में वापसी के लिए चार अच्छे ओवर की दरकार होती है। मेरा मानना है कि हमने 50 प्रतिशत अच्छी गेंद की लेकिन इसके बाद हमने उन क्षेत्रों में गेंद की जहां नहीं करनी चाहिए थी। इससे आखिर में हमने मैच गंवाया।’’

 

(भाषा) 


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?