मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
IPL 7 : धवन-वॉर्नर ने दिलाई हैदराबाद को जीत PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Tuesday, 20 May 2014 20:25

हैदराबाद। दिल्ली रणजी टीम के दो धुरंधरों ने फॉर्म में वापसी करके

आज यहां आईपीएल सात में पहली अर्धशतकीय पारी खेली लेकिन शिखर धवन और उनके ऑस्ट्रेलियाई साथी डेविड वॉर्नर का पचासा आखिर में विराट कोहली के प्रयास पर भारी पड़ गया जिससे सनराइजर्स हैदराबाद ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर को सात विकेट से हराकर प्लेऑफ की अपनी उम्मीदें बरकरार रखी। 


धवन (50) और वॉर्नर (59) ने पहले विकेट के लिए 100 रन जोड़कर सनराइजर्स को अच्छी शुरुआत दिलाई। नमन ओझा ने भी 24 रन का योगदान दिया जिससे हैदराबाद की टीम ने आईपीएल के अपने इतिहास में रिकॉर्ड लक्ष्य हासिल किया। सनराइजर्स ने 19.4 ओवर में तीन विकेट पर 161 रन बनाए। 

रॉयल चैलेंजर्स ने जब टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया तो उसकी पारी कप्तान कोहली के इर्द गिर्द घूमती रही जिन्होंने 41 गेंदों पर 67 रन बनाए। इस बीच उन्होंने युवराज सिंह (21) के साथ तीसरे विकेट के लिए 57 और एबी डिविलियर्स (29) के साथ चौथे विकेट के लिए 61 रन की दो अर्धशतकीय साझेदारियां की। इसके बावजूद बेंगलूर छह विकेट पर 160 रन तक ही पहुंच पाया। सनराइजर्स की तरफ से भुवनेश्वर कुमार ने 27 रन देकर दो विकेट लिए। 

सनराइजर्स की यह 12 मैच में पांचवीं जीत है और उसके भी बेंगलूर के समान 10 अंक हो गए हैं। कोहली की अगुवाई वाली टीम हालांकि नेट रन रेट के आधार पर अंकतालिका में पांचवें स्थान पर है। इन दोनों टीमों को आगे बढ़ने के लिए अपने बाकी बचे दोनों मैच जीतने होंगे और साथ ही तीसरे से सातवें स्थान पर काबिज अन्य टीमों की हार की दुआ करनी होगी। 

कप्तानी से मुक्त होने के बाद धवन ने फिर से अपनी बल्लेबाजी का वास्तविक रूप दिखाया। बाएं हाथ का यह बल्लेबाज पहले ओवर से ही गेंदबाजों पर अपनी खुन्नस उतारने के मूड में दिखा और फिर उन्होंने मिशेल स्टार्क, वरूण आरोन किसी को नहीं बख्शा। आरोन के बाउंसर को तो धवन ने हुक करके फाइन लेग पर छक्के लिये भेजा। 

वॉर्नर को शुरुआती तीन ओवर में बल्लेबाजी का खास मौका नहीं मिला। इसके बाद उनका पहला चौका भी दर्शनीय नहीं था लेकिन इस ऑस्ट्रेलियाई ने धीरे-धीरे लय हासिल की। मुथैया मुरलीधरन पर स्क्वॉयर लेग और अबू नाचिम पर मिड ऑफ पर लगाए गए उनके चौके खूबसूरत थे। 

वॉर्नर ने अपनी पारी का पहला छक्का भी श्रीलंकाई दिग्गज ऑफ स्पिनर पर ही जमाया। उन्होंने बेंगलूर के सबसे सफल स्पिनर यजुवेंद्र चहल पर लगातार दो छक्के जड़कर उनका आत्मविश्वास डिगाया। धवन ने 33 गेंद पर इस सत्र का अपना पहला अर्धशतक पूरा किया, लेकिन इसके तुरंत बाद वह रन आउट होकर पवेलियन लौट गए। उनकी 39 गेंद की पारी में सात चौके और एक छक्का शामिल है। वॉर्नर ने इस सत्र में पांचवीं बार 50 रन की संख्या को स्पर्श किया लेकिन आरोन की फुलटॉस उनके बल्ले के ऊपरी किनारे से लगकर कैच में बदल गई। उन्होंने 46 गेंद खेली तथा तीन चौके और चार छक्के लगाए। 

नमन ओझा ने चहल पर छक्का जड़कर शुरुआत की और आखिर में जब मैच करीबी बन गया था तब आरोन की गेंद भी प्वॉइंट के ऊपर से छह रन के लिए भेजी। उनके आउट होने के बाद क्रीज पर उतरे कप्तान डेरेन सैमी (नाबाद 10) ने आते ही


छक्का जड़कर अपनी टीम की जीत सुनिश्चित की। एरोन फिंच 11 रन बनाकर नाबाद रहे। बेंगलूर की तरफ से आरोन ने 36 रन देकर दो विकेट लिए। 

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिए उतरे बेंगलूर ने शुरुआती ओवर में ही पार्थिव पटेल (4) का विकेट गंवा दिया जिन्हें भुवनेश्वर ने पगबाधा आउट किया। क्रिस गेल (20 गेंद पर 14 रन) फिर से अपनी असली रंगत में नहीं दिखे। छठे ओवर में लेग स्पिनर कर्ण शर्मा की पहली गेंद ही उनके बल्ले का किनारा लेकर लेकर थर्ड मैन पर आसान कैच के रूप में बदल गई। 

इससे रन गति प्रभावित हुई और पहले दस ओवर में स्कोर दो विकेट पर 48 रन तक ही पहुंच पाया। युवराज अपनी लय में नहीं दिख रहे थे। उन्होंने परवेज रसूल की गेंद लॉन्ग ऑन पर हवा में उठाई लेकिन वह डेल स्टेन के हाथ को चूमती हुई छक्के के लिये चली गई। इस ऑफ स्पिनर के अगले ओवर में भी युवराज ने इसी तरह का शॉट लगाया लेकिन इस बार स्टेन ने उसे कैच कर दिया। 

कोहली ने इस बीच कर्ण के एक ओवर में दो छक्के जड़कर स्कोर बोर्ड को गति प्रदान की और फिर 15वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। इसके अगले ओवर में कोहली ने डिविलियर्स के साथ मिलकर सनराइजर्स के कप्तान सैमी का स्वागत दो छक्कों से किया। इस ओवर में 19 रन बने। 

कोहली ने इरफान पठान की गेंद भी छह रन के लिए भेजी लेकिन स्विंग लेती अगली गेंद उनके बल्ले पर सही तरह से नहीं आई और लॉन्ग ऑन पर खड़े स्टेन ने फिर से कैच लेने में गलती नहीं की। कोहली ने अपनी पारी में चार चौके और इतने ही छक्के लगाए। 

भुवनेश्वर ने 19वें ओवर में कोण लेती गेंद पर डिविलियर्स की गिल्लियां बिखेर दी। पांच गेंद के अंदर कोहली और डिविलियर्स के विकेट गंवाने से बेंगलूर की आखिरी दो ओवरों में अधिक रन बटोरने की उम्मीदों पर पानी फिर गया। इन दो ओवरों में केवल 14 रन बने। 


रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर 

 क्रिस गेल का रसूल बो कर्ण शर्मा 14

 पार्थिव पटेल बो भुवनेश्वर 04

 विराट कोहली का स्टेन बो पठान 67

 युवराज सिंह का स्टेन बो रसूल 21

 एबी डिविलियर्स बो भुवनेश्वर 29

 सचिन राणा नाबाद 12 

 मिशेल स्टार्क रन आउट 06


 अतिरिक्त 07

 कुल : 20 ओवर में, छह विकेट पर : 160

 विकेट पतन : 1-5, 2-23, 3-80, 4-141, 5-146, 6-160


 गेंदबाजी 

 भुवनेश्वर 4-0-27-2

 स्टेन 4-0-23-0

 रसूल 4-0-26-1

 कर्ण शर्मा 3-0-27-1

 वेणुगोपाल राव 1-0-7-0

 पठान 3-0-28-1

 सैमी 1-0-19-0


 सनराइजर्स हैदराबाद 

  शिखर धवन रन आउट 50 

 डेविड वार्नर का युवराज बो आरोन 59

 नमन ओझा का युवराज बो आरोन 24 

 एरोन फिंच नाबाद 11

 डेरेन सैमी नाबाद 10


 अतिरिक्त 07

 कुल : 19.4 ओवर में, तीन विकेट पर : 161

 विकेट पतन : 1-100, 2-126, 3-150


 गेंदबाजी 

 मुरलीधरन 4-0-26-0

 स्टार्क 3.4-0-31-0

 आरोन 4-0-36-2

 अबू नाचिम 2.2-0-22-0

 चहल 4-0-32-0

 युवराज 1.4-0-10-0

 (भाषा)

 


आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?