मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
ओबामा ने करजई को दी धमकी, कहा - सुरक्षा समझौता पर साइन करो या फिर अमेरिकी सैनिकों की वापसी तय PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Wednesday, 26 February 2014 19:01

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने धमकी दी है कि अगर अफगान सरकार अमेरिका के साथ द्विपक्षीय सुरक्षा समझौते पर हस्ताक्षर नहीं करती है तो अफगानिस्तान में तैनात सभी अमेरिकी सैनिकों को वापस बुला लिया जाएगा।

ओबामा ने अफगान राष्ट्रपति हामिद करजई को यह कड़ा संदेश दिया। करजई ने अमेरिका के साथ इस समझौते पर हस्ताक्षर से इंकार किया था।

व्हाइट हाउस ने ओबामा और करजई की फोन पर हुई बातचीत के बाद जारी बयान में कहा, ‘‘द्विपक्षीय सुरक्षा समझौते के संदर्भ में राष्ट्रपति ओबामा ने राष्ट्रपति करजई को बताया कि वह बीएसए पर हस्ताक्षर के इच्छुक नहीं हैं, इसलिए अमेरिका आगे बढ़ने और आकस्मिक स्थिति से निपटने की अतिरिक्त योजना बनाकर चल रहा है।’’

इससे पहले अमेरिका ने कहा था कि वह इस समझौते पर इस साल के अंत में हस्ताक्षर करने के लिए तैयार है लेकिन इसमें जितना लंबा समय लगेगा, 2014 के बाद अफगानिस्तान में किसी भी अभियान को अंजाम देने में उतनी ही ज्यादा चुनौतियां आएंगी।

व्हाइट हाउस


के प्रेस सचिव जे कार्ने ने कहा कि राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कल करजई से अफगानितस्तान के आगामी चुनावों, अफगान नेतृत्व वाले शांति व पुन: मैत्री के प्रयासों और खासतौर पर द्विपक्षीय सुरक्षा समझौते पर चर्चा की।

कार्ने ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘ऐसे संकेत आए है कि राष्ट्रपति करजई इसपर हस्ताक्षर करने के इच्छुक नहीं हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपनी बातचीत में यह स्पष्ट कर दिया है कि हम साल के अंत के बाद अफगानिस्तान में कोई भी सैनिक न रखने की संभावना की तैयारी कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम साल के अंतिम चरण में द्विपक्षीय सुरक्षा समझौते पर हस्ताक्षर करने के लिए तैयार हैं लेकिन इसमें जितना ज्यादा समय लगेगा, 2014 के बाद अभियान उतना ही छोटा होगा।’’

(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?