मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तान एमएस धोनी विदेशों में रहे असफल, बनाया सर्वाधिक हार का रिकॉर्ड PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Sunday, 09 February 2014 16:05

नई दिल्ली। भारत के सबसे सफल कप्तानों में शुमार महेंद्र सिंह धोनी आज न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच में 40 रन की हार के साथ ही विदेशों में सबसे असफल भारतीय कप्तान बन गए।

 

धोनी की कप्तानी में भारत की विदेशी सरजमीं पर यह 11वीं हार है जो कि नया भारतीय रिकॉर्ड है। मंसूर अली खां पटौदी, मोहम्मद अजहरूद्दीन और सौरव गांगुली की कप्तानी में भारत ने विदेश में दस टेस्ट मैच गंवाए थे।

विदेशों में सर्वाधिक टेस्ट मैच गंवाने वाले कप्तानों की सूची में इनके बाद बिशन सिंह बेदी (आठ टेस्ट), सुनील गावस्कर और सचिन तेंदुलकर (दोनों छह टेस्ट) तथा लाला अमरनाथ, विजय हजारे, दत्तू गायकवाड़, राहुल द्रविड़ और अनिल कुंबले (सभी चार टेस्ट मैच) का नंबर आता है।

यही नहीं भारत ने विदेशों में हार का सैकड़ा भी पूरा कर लिया है। आकलैंड में भारत को विदेशी सरजमीं पर 100वीं हार मिली। भारत विदेशी सरजमीं पर 100 या इससे अधिक मैच हारने वाली चौथी टीम बन गई है। उससे पहले इंग्लैंड (161), वेस्टइंडीज (112) और आस्ट्रेलिया (106) इस सूची में शामिल थे। भारत की यह 477वें टेस्ट मैच में कुल 151वीं हार है। न्यूजीलैंड ने अपनी कुल 75वीं टेस्ट जीत दर्ज की।

धोनी की कप्तानी में भारत ने विदेशों में पहला टेस्ट मैच जुलाई 2010 में श्रीलंका के खिलाफ गाले में गंवाया था। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दिसंबर 2010 में सेंचुरियन में उनकी टीम को पारी के अंतर से हार मिली थी।

इंग्लैंड के 2011 के दौरे में भारत को धोनी की कप्तानी में सभी चार मैचों में हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद आस्ट्रेलिया में भी भारत ने चारों मैच गंवाये लेकिन इनमें एडिलेड में चौथे टेस्ट मैच में धोनी नहीं खेले थे और


उनकी जगह वीरेंद्र सहवाग ने टीम की अगुवाई की थी।

धोनी के नेतृत्व में भारत ने हाल में दक्षिण अफ्रीकी दौरे में डरबन में खेला गया टेस्ट मैच दस विकेट से गंवाया था जबकि अब न्यूजीलैंड में भी उसे पहले टेस्ट मैच में हार झेलनी पड़ी।

कप्तान के रूप में विदेशों में सर्वाधिक मैच गंवाने का विश्व रिकार्ड न्यूजीलैंड स्टीफन फ्लेमिंग और वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा के नाम पर दर्ज है। इन दोनों की कप्तानी में उनकी टीमों को विदेशों में 16 हार मिली थी।

इनके बाद श्रीलंका अर्जुन रणतुंगा और दक्षिण अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ (दोनों 13 हार), न्यूजीलैंड के जान रीड (12 हार) तथा आस्ट्रेलिया के एलन बोर्डर और किम ह्यूज तथा भारतीय कप्तान धोनी (सभी 11 हार) का नंबर आता है।

धोनी की कप्तानी में भारत की यह कुल 14वीं हार है। इस तरह से धोनी अब अजहरूद्दीन की बराबरी पर पहुंच गये हैं। पटौदी के नेतृत्व में भारत ने सर्वाधिक 19 टेस्ट मैच गंवाये थे। धोनी और अजहरूद्दीन इस सूची में दूसरे स्थान पर हैं। उनके बाद सौरव गांगुली (13 हार), बिशन सिंह बेदी (11), सचिन तेंदुलकर (9), सुनील गावस्कर (8) और कपिल देव (7) का नंबर आता है।

धोनी की कप्तानी रिकार्ड अब 52 टेस्ट मैच में 26 जीत और 14 हार का हो गया है। उनकी कप्तानी में भारत ने विदेशों में जो 22 मैच खेले उनमें से उसे पांच में जीत और 11 में हार मिली।

(भाषा)

 

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?