मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
अरविंद केजरीवाल की सरकार आप की नीतियों के खिलाफ भाजपा देगी धरना आज PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Friday, 10 January 2014 10:42

जनसत्ता संवाददाता

नई दिल्ली। दिल्ली भाजपा ने गुरुवार को यह घोषणा की है कि वह आम आदमी पार्टी की राष्ट्रविरोधी व जनविरोधी नीतियों का पर्दाफाश करने के लिए शुक्रवार को राजघाट पर धरना देगी।

कश्मीर मुद्दे पर जनमत संग्रह का समर्थन करना, बाटला हाउस मुठभेड़ पर संदेह करना और अब दिल्ली के कांग्रेस नेताओं को भ्रष्टाचार के आरोपों से बचाना आम आदमी पार्टी के अवसरवाद का स्पष्ट साक्ष्य है। एक साझा प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विजय गोयल और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि कांग्रेस के मंत्रियों और मुख्यमंत्री के दिए गए भ्रष्टाचार के ब्योरे सीएजी की रिपोर्टों, शुंगलू कमेटी की रिपोर्ट व लोकायुक्त के फैसलों में दिए गए हैं। इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को और क्या सबूत चाहिए?

 

वास्तविकता यह है कि आम आदमी पार्टी की ओर से कांग्रेस के गठबंधन से सत्ता में आने के बाद उसने कांग्रेस के पूर्व मंत्रियों और मुख्यमंत्री के खिलाफ मामलों को ठंडे बस्ते में डालने का फैसला किया है। अन्यथा कोई ऐसा कारण नहीं कि उनके खिलाफ पिछले 10 दिनों में कोई भी शिकायत न दर्ज की जाए। गोयल ने कहा कि ये वही केजरीवाल हैं जो कांग्रेस के खिलाफ 370 पृष्ठों का अभियोग पत्र लेकर आए थे। यदि ये बड़ी मछली को पकड़ने के लिए ईमानदारी से काम करते तो पूर्व कांग्रेस मंत्रियों और मुख्यमंत्री के खिलाफ 10 दिनों की भीतर ही उन्हें मामले दर्ज कर देना चाहिए था। लेकिन इसके बदले वह इस मुद्दे से यह कहकर बचना चाह रहे हैं कि मामले तभी दर्ज किए जाएंगे जब कांग्रेस के नेताओं के खिलाफ भ्रष्टाचार के सबूत प्रस्तुत किए जाएं।

भाजपा नेताओं ने कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार की ओर से किए गए अधिकांश


वादे अभी पूरे नहीं किए गए। इस सरकार ने दिल्ली में अभी तक महंगाई पर लगाम नहीं लगाई है। वास्तव में पानी की दरों में 10 फीसद वृद्धि करके जनता की परेशानी में वृद्धि की है और सीएनजी की कीमतों में वृद्धि को वापस लेने के वादे को भी पूरा नहीं किया। बिजली की दरों में जो कमी की गई है उससे सीमित संख्या में ही लोगों को फायदा मिलेगा जबकि यह वादा किया गया था कि दरों में यह कमी सभी के लिए होगी। वास्तव में जबसे आम आदमी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन सरकार सत्ता में आई है दिल्ली के नागरिक महंगाई से और भी अधिक परेशान हो गए हैं। पानी की दरों, सीएनजी और एलपीजी की कीमतों में वृद्धि हुई है। न तो आम आदमी पार्टी ने और न उसकी सहयोगी कांग्रेस पार्टी ने दिल्ली के लोगों को राहत देने का कोई भी प्रयास किया है।

भाजपा नेताओं ने इस सरकार के कुछ मंत्रियों के व्यवहार की भी निंदा की। गोयल ने कहा कि हम सभी जानते हैं कि किस प्रकार आम आदमी पार्टी के मंत्रिगण अहंकार में डूबे हुए हैं। उन्होंने वीआइपी नंबर वाली कारें ली हैं। उनके मुख्यमंत्री ने डुप्लेक्स के फ्लैटों के सेट को तभी छोड़ा जब जनता में इसके खिलाफ आवाज उठी जबकि एक अन्य मंत्री ने दो मकान ले लिए हैं। इस बात की पूरी संभावना है कि अन्य मंत्रिगण भी सरकारी आवास लेंगे। यह साफ है कि उनकी कथनी और करनी में अंतर है।

 

 

 

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?