मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
राहुल गांधी के प्रधानमंत्री पद की दावेदारी से सपा और भाजपा में खलबली : कांग्रेस PDF Print E-mail
User Rating: / 1
PoorBest 
Wednesday, 25 December 2013 23:09

बरेली, जनसत्ता। कांग्रेस के बरेली क्षेत्र के प्रभारी संजय कपूर ने कहा कि राहुल गांधी को  प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किए जाने की संभावना से सपा और भाजपा में खलबली मच गई है। भाजपा के नरेंद्र मोदी सहित प्रधानमंत्री पद के लिए ताल ठोक रहे तमाम उम्मीदवारों से राहुल गांधी निश्चय ही बेहतर हैं। इसलिए सपा और भाजपा के लोग बेमतलब की बयानबाजी कर अभी से राहुल गांधी को घेरने की कोशिश करते भी दिखाई दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि अभी हाल ही में हुए राज्यों के चुनावों के नतीजों का लोकसभा चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा। लोकसभा चुनाव की लड़ाई के केंद्र में तो कांग्रेस ही रहेगी।

कांग्रेस नेता संजय कपूर ने यहां पार्टी के क्षेत्रीस कार्यालय में पत्रकारों से कहा कि राहुल गांधी की खुद की दिलचस्पी प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किए जाने में नहीं है। लेकिन पार्टी के कार्यकर्ताओं, समर्थकों और विशेष रूप से युवाओं की इच्छा है कि उन्हें कांग्रेस का प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया जाए। सोशल मीडिया और दूसरे माध्यमों से कांग्रेस को युवाओं के लाखों संदेश मिले हैं, जिनमें उन्हें प्रधानमंत्र का दावेदार घोषित करने की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी का ज्यादा जोर संगठन को चुस्त-दुरूस्त बनाने पर है। इसलिए केंद्रीय कार्यकारिणी से लेकर जिला संगठनों तक की समीक्षा का काम नए सिरे से शुरू किया गया है। सरकार में शामिल कुछ लोगों को भी संगठन की जिम्मेदारियां सौंपी जा रही है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट होने से लोगों का सपा से मोह भंग हो चुका है। हत्या, लूट, बलात्कार


और जमीनों पर कब्जे जैसी वारदातों की तो जैसे बाढ़ आ गई है। राज्य के आम लोगों में खौफ का माहौल है। राज्य सरकार की कानून व्यवस्था के मोर्चे पर नाकामी के कारण ही यहां फिरकापरस्त ताकतें सिर उठाने लगी हैं। अखिलेश सरकार के दो साल से कम के कार्यकाल में ही एक सौ से ज्यादा दंगे हो चुके हैं। मुजफ्फरनगर में दंगा पीड़ितों की समस्याओं को हल करने में भी राज्य सरकार नाकाम रही है। पीड़ितों का अब तक शिविरों में बने रहना अपने आप में राज्य सरकार की नाकामी बयां कर रहा है। राज्य सरकार उनको सुरक्षा का भरोसा देने में नाकाम रही है जिसकी वजह से वे अपने घरों को लौट नहीं रहे हैं।

उन्होंने कहा कि लोकपाल बिल और खाद्य सुरक्षा कानून के संसद में पारित होने से देश के लोग खुश हैं। लोकपाल बिल की तो अण्णा हजारे ने भी प्रशंसा की है। लोकपाल बनने से भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा। खाद्य सुरक्षा कानून से देश के करोड़ों गरीबों को सीधा लाभ पहुंचेगा। कांग्रेस नेता संजय कपूर ने इस क्षेत्र के आठ जिलों के नगर और जिला अध्यक्षों के कामकाज की समीक्षा भी की। उन्होंने कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर चुनाव में जुट जाने के निर्देश दिए। पार्टी के लोगों को खाद्य सुरक्षा कानून और लोकपाल बिल के बारे में गांवों में सघन प्रचार करने को कहा गया।

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?