मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
नारायण साईं को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Thursday, 19 December 2013 17:20

सूरत। आसाराम के पुत्र नारायण साईं को यहां के एक स्थानीय अदालत ने आज 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। नारायण पर सूरत की दो बहनों में से एक ने बलात्कार का मामला दर्ज कराया है।

 

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट जतिन ठक्कर ने साईं को दो जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

पुलिस ने जांच के दौरान जब्त 21 सिम कार्ड के बारे में पूछताछ के लिए साईं की हिरासत की मांग की थी जो आज दोपहर खत्म हो गई।

पुलिस ने नारायण के सहयोगी से बरामद 5 करोड़ रूपए के स्रोत के बारे में भी जानकारी मांगी।

नारायण के खिलाफ मामले को कमजोर करने के लिए पुलिस, चिकित्सकों और न्यायिक अधिकारियों को रिश्वत देने के कथित षड्यंत्र के


सिलसिले में पुलिस ने एक पुलिस उपनिरीक्षक सहित छह लोगों को हिरासत में लिया था।

दिल्ली-हरियाणा की सीमा से दिल्ली पुलिस ने चार दिसम्बर को साईं और उसके दो सहयोगियों को गिरफ्तार किया था। उसके दो सहयोगियों को पहले ही न्यायिक हिरासत में लिया जा चुका है।

सूरत की दो बहनों ने नारायण और उसके पिता आसाराम पर बलात्कार के आरोप लगाए थे। बड़ी बहन ने जहां आसाराम पर वहीं छोटी बहन ने नारायण पर यौन हमला करने के आरोप लगाए थे।

आसाराम (72) इस समय जोधपुर जेल में हैं ।

भाषा

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?