मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
चुनाव दिल्ली में और हिसाब गुजरात का मांगा जा रहा : नरेन्द्र मोदी PDF Print E-mail
User Rating: / 2
PoorBest 
Sunday, 01 December 2013 10:18

नरेंद्र भंडारी

नई दिल्ली। भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित पर झूठ बोलकर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली की मुख्यमंत्री गुजरात में बिजली के दाम दिल्ली से लगातार बढ़ा चढ़ाकर बता रहीं हैं। उन्होंने कहा कि यह बड़ी हैरानी की बात है कि चुनाव दिल्ली में हो रहे हैं और हिसाब गुजरात का मांगा जा रहा है। मोदी दिल्ली विधानसभा चुनावों को लेकर शनिवार को पूर्वी दिल्ली स्थित कड़कड़डूमा कोर्ट के करीब सीबीडी ग्राउंड में भाजपा की ओर से आयोजित रैली को संबोधित कर रहे थे।

भाजपा की चुनावी रैली को पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी, अरुण जेटली, नवजोत सिंह सिद्धू, मनोज तिवारी, भाजपा के दिल्ली के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार डा. हर्षवर्धन और प्रदेशाध्यक्ष विजय गोयल ने संबोधित किया। रैली में जमनापार की 16 विधानसभाओं के उम्मीदवार भी मौजूद थे।

इस मौके पर मोदी ने दिल्ली और केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि शीला दीक्षित काफी समय से कह रहीं हैं कि दिल्ली में बिजली गुजरात से सस्ती है। उन्होंने बताया कि गुजरात में यदि कोई 30 यूनिट बिजली इस्तेमाल करता है तो उससे डेढ़ रुपए चार्ज किए जाते हैं जबकि दिल्ली में तीन रुपए 90 पैसे वसूले जाते हैं। 200 यूनिट तक बिजली इस्तेमाल करने वालों से दिल्ली में 5 रुपए 80 पैसे वसूल किए जाते हैं जबकि गुजरात में 4 रुपए 57 पैसे चार्ज किए जाते हैं। व्यवसायिक बिजली का इस्तेमाल करने वालों से दिल्ली में औसतन 8 रुपए 41 पैसे चार्ज किए जाते हैं जबकि गुजरात में 4 रुपए 92 पैसे चार्ज किए जाते हैं। गुजरात में किसानों को तीन हजार करोड़ रुपए की सबसिडी दी जाती है। उन्होंने सवाल किया कि दिल्ली सरकार बताए कि वह किसानों के लिए क्या करती है।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि चुनाव दिल्ली और राजस्थान में हो रहे हैं और हिसाब-किताब गुजरात का पूछा जा रहा है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में भी चुनाव हो रहे हैं और वहां के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और डा. रमण सिंह लगातार घूम घूमकर जनता के बीच जाकर अपने कार्यों का हिसाब देते रहे। इधर, दिल्ली की मुख्यमंत्री बताएं कि उन्होंंने दिल्ली की जनता को कब हिसाब दिया है। मोदी ने कहा कि गुजरात का हिसाब वे एक साल पहले वहां की जनता को चुनाव में देकर पास हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि देश में सिर्फ मोदी को घेरकर कांग्रेस सत्ता में वापस आना चाहती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की यह मंशा कभी पूरी नहीं होगी।

मोदी ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि केंद्र और दिल्ली के अहंकारी शासक जनता को अपने शासन का हिसाब नहीं दे रहे हैं लेकिन जनता चुनावों में उनसे पाई-पाई का हिसाब लेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के अहंकारी शासक जनता को अपने काम का हिसाब नहीं दे रहे हैं।

गुजरात में कथित रूप से उनके कहने पर एक युवती


की ‘अवैध’ जासूसी करने के मामले का सीधा जिक्र किए बिना उन्होंने कहा कि कांग्रेस इससे पहले गुजरात चुनाव के दौरान भी उन्हें बदनाम करने के कई प्रयास कर चुकी है लेकिन उसे मुंह की खानी पड़ी। मोदी ने कहा कि कांगे्रस ने उन्हें बदनाम करने की सारी तिकड़में कर ली। लेकिन गुजराती लोगों ने उन प्रयासों को शिकस्त दी। फेसबुक और ट्वीटर के जरिए आरोप लगाए जाने के बावजूद गुजरात ने कांगे्रस को करारा जवाब दिया।

शाहदरा की इस रैली में जहां बड़ी संख्या में बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोग रहते हैं, भाजपा नेता ने कहा कि अगर बिहार और यूपी में पिछले 60 साल में विकास हुआ होता तो क्या वहां के लोग अपना घर परिवार छोड़ कर दिल्ली में काम करने आते? ओड़िशा, बिहार और आंध्रप्रदेश के काफी लोग सूरत में भी रहते हैं लेकिन उसे श्रेष्ठ रख-रखाव वाले शहर का सम्मान मिला है।

मोदी ने कांग्रेस नेतृत्व पर व्यंग्य भरे अंदाज में कहा कि हमारे प्रधानमंत्री बड़े अर्थशास्त्री हैं। हमने कभी इस पर सवाल नहीं किया। वित्त मंत्री भी बहुत ज्ञानी हैं। हमने इस बात को भी कभी चुनौती नहीं दी। उन्होंने कहा कि एक मंत्री हैं जो कहते हैं कि गरीबी इसलिए बढ़ी है क्योंकि गरीब अब दो सब्जी खाने लगा है। मोदी ने कहा कि केंद्र से लेकर उन राज्यों में जहां कांग्रेस शासन है-समस्या की जड़ कुशासन है। कांग्रेस का सुशासन से कोई वास्ता ही नहीं है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री पद के भाजपा उम्मीदवार हर्षवर्धन की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा ने अच्छे शासन का वादा किया है और हम एक सम्मानित व्यक्ति को सीएम उम्मीदवार के तौर पर पेश कर रहे हैं। भाजपा के सांसद नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि मोदी कहते हैं कि भारत को सोने की चिड़िया बनाएंगे जबकि कांग्रेसी कहते हैं कि भारत को सोनिया की चिड़िया बनाएंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली की जनता को जीत का शंखनाद दिल्ली से करना है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से वे छक्का लगाकार गेंद को बाउंड्री से बाहर कर देते थे उसी तरह से दिल्ली की जनता को कांग्रेस को दिल्ली से बाहर फेंक देना चाहिए।

दिल्ली के चुनाव के प्रभारी नितिन गडकरी ने कहा कि शीला ने दिल्ली में अपनी हार स्वीकार कर ली है। कांग्रेस का कोई भी बड़ा नेता दिल्ली में प्रचार करने के लिए तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने विश्व में सबसे ज्यादा घोटाला करने का एक रेकार्ड बनाया है। इन घोटालों के लिए कांग्रेस को विश्व में पुरस्कार मिलेगा। उन्होंने कहा कि जमनापार के लोगों को गर्व होना चाहिए कि दिल्ली को पहला मुख्यमंत्री जमनापार से मिलेगा।

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?