मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
कांग्रेस के अंहकारी शासक जनता को हिसाब नहीं दे रहे हैं : नरेन्द्र मोदी PDF Print E-mail
User Rating: / 2
PoorBest 
Saturday, 30 November 2013 15:58

नई दिल्ली। भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए आज यहां कहा कि केन्द्र और दिल्ली के इसके अंहकारी शासक जनता को अपने शासन का हिसाब नहीं दे रहे हैं लेकिन जनता चुनावों में उनसे पाई-पाई का हिसाब लेगी।

मोदी ने यहां एक चुनावी सभा में कहा, ‘‘कांग्रेस के अंहकारी शासक जनता को अपने काम का हिसाब नहीं दे रहे हैं। ...लेकिन गुजरात सरकार से हिसाब मांग रहे हैं। ऐसा करना कांग्रेस के नेताओं का फैशन बन गया है। चुनाव दिल्ली और राजस्थान में है, लेकिन जवाब गुजरात की सरकार से मांग रहे हैं।’’

गुजरात में कथित रूप से उनके कहने पर एक युवती की ‘अवैध’ जासूसी करने के मामले का सीधा उल्लेख किए बिना उन्होंने कहा कि कांग्रेस इससे पहले गुजरात चुनाव के दौरान भी उन्हें बदनाम करने के कई प्रयास कर चुकी है लेकिन उसे मुंह की खानी पड़ी।

मोदी ने कहा, ‘‘उन्होंने (कांग्रेस) मुझे बदनाम करने की सारी तिकड़में करली। लेकिन गुजराती लोगों ने उन प्रयासों को शिकस्त दी। फेसबुक और ट्वीटर के जरिए आरोप लगाए जाने के बावजूद गुजरात ने कांग्रेस को करारा जवाब दिया।’’

शाहदरा की इस रैली में, जहां बड़ी संख्या में बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोग रहते हैं, भाजपा नेता ने कहा, ‘‘अगर बिहार और यूपी में पिछले 60 साल में विकास हुआ होता तो क्या वहां के लोग अपना घर परिवार छोड़ कर दिल्ली में काम करने आते? ...ओडिशा, बिहार और आंध्रप्रदेश के काफी लोग सूरत


(गुजरात) में भी रहते हैं लेकिन उसे श्रेष्ठ रख-रखाव वाले शहर का सम्मान मिला है।

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ने कांग्रेस नेतृत्व पर व्यंग्य भरे अंदाज में कहा, ‘‘हमारे प्रधानमंत्री बड़े अर्थशास्त्री हैं। हमने कभी इस पर सवाल नहीं किया। वित्त मंत्री भी बहुत ज्ञानी हैं। हमने इस बात को भी कभी चुनौती नहीं दी।’’

अपने व्यंग्य को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा, ‘‘केन्द्र सरकार में एक वरिष्ठ मंत्री, जो अपने को इतना बुद्धिमान मानते हैं कि जैसे सारी अकल उन्हीं के पास है और बाकी दुनिया में सब बेअकल हैं।’’

उन्होंने कहा कि यह वही मंत्री हैं जो कहते हैं कि गरीबी इसलिएि बढ़ी है क्योंकि गरीब अब दो सब्जी खाने लगा है।

मोदी ने कहा कि केन्द्र से लेकर उन राज्यों में जहां कांग्रेस शासन है, वहां समस्या की जड़ कुशासन है। कांग्रेस का सुशासन से कोई वास्ता ही नहीं है।

कांग्रेस के नेताओं के इस दावे को उन्होंने गलत बताया कि दिल्ली की बनिस्बत गुजरात में बिजली मंहगी है। उन्होंने कहा, ‘‘यह झूठा प्रचार है।’’

दिल्ली के मुख्यमंत्री पद के भाजपा के उम्मीदवार हर्ष वर्धन की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘हमने अच्छे शासन का वायदा किया है और हम एक सम्मानित व्यक्ति को सीएम उम्मीदवार के तौर पेश कर रहे हैं।

(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?