मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
तरुण तेजपाल पर गिरफ्तारी की तलवार PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Friday, 29 November 2013 08:45

पणजी। गोवा पुलिस ने गुरुवार को एक स्थानीय अदालत में तरुण तेजपाल के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने की मांग की।

पुलिस को होटल से कुछ सीसीटीवी फुटेज भी मिले हैं जिससे पीड़िता के आरोपों की पुष्टि होती प्रतीत होती है। फुटेज में तेजपाल पीड़िता को लिफ्ट में अंदर खींचते दिखाई दे रहे हैं। तेजपाल पर अपनी एक महिला सहकर्मी पत्रकार के यौन उत्पीड़न का आरोप है।

 

 

इससे पहले तेजपाल गोवा पुलिस की तरफ से तय की गई समय सीमा अपराह्न तीन बजे तक उसके समक्ष पेश नहीं हुए। जांच अधिकारी (आइओ) के समक्ष गुरुवार को अपराह्न तीन बजे तक पेश होने की समय सीमा बढ़ाने की अपील ठुकराए जाने के बाद तेजपाल ने गोवा पुलिस से अब कहा है कि वे शुक्रवार को उसके समक्ष पेश होंगे। यह जानकारी उनके वकील संदीप कपूर ने दिल्ली में दी।

पहले की खबरों में बताया गया था कि तेजपाल गुरुवार तीन बजे तक पेश हो जाएंगे लेकिन बाद में उनकी रणनीति बदल गई और उन्होंने समय बढ़ाने की मांग की। दिल्ली हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका को उन्होंने यह कहकर वापस ले लिया कि उपयुक्त निवारण के लिए वे उपयुक्त अदालत में जाएंगे।

गोवा पुलिस के समक्ष उपस्थित होने की समय सीमा खत्म होने के बाद डीआइजी ओपी मिश्रा ने कहा कि अपराध की गंभीरता और कानून के मुताबिक मामले में आगे बढ़ने को ध्यान में रखते हुए जांच अधिकारी ने समय बढ़ाने की उनकी अपील खारिज कर दी। यह पूछने पर कि पुलिस के समक्ष गैर जमानती वारंट का विकल्प है तो उन्होंने कहा कि ये तार्किक कदम हैं जिन्हें हमें अपनाने की जरूरत है। मैं आपको जांच के हरेक कदम के बारे में नहीं बता सकता।

पुलिस सूत्रों ने कहा कि अपराध शाखा ने प्रथम श्रेणी के न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में गैर जमानती वारंट जारी करने की अर्जी दी है। इसके बाद तेजपाल की गिरफ्तारी हो सकती है। तेजपाल के जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने की समय सीमा बीतने के दो घंटे बाद गोवा पुलिस का यह बयान आया। उन्होंने पेशी के लिए शनिवार तक का वक्त मांगा था।

गिरफ्तारी के बारे में पूछे जाने पर मिश्रा ने कहा कि इसमें संदेह नहीं होना चाहिए कि यह दूसरा तार्किक कदम है। तेजपाल को तीन बजे तक जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने के लिए नोटिस जारी किया गया था और परिवार ने उसे स्वीकार किया था। लेकिन


दोपहर 12 बजे तेजपाल के एक वकील ने पुलिस की अपराध शाखा को चिट्ठी सौंपकर शनिवार को पेश होने का वक्त मांगा। वकील ने कहा कि तेजपाल गोवा में नहीं हैं। मिश्रा ने कहा कि पुलिस ने तेजपाल को गुरुवार तीन बजे तक पेश होने की समय सीमा तय करते समय दिल्ली से पणजी तक की यात्रा को ध्यान में रखा गया था। अपराध की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए जांच अधिकारी ने उन्हें और समय देने से इनकार कर दिया।

उधर, गोवा के जिस होटल में यौन उत्पीड़न की यह घटना हुई, वहां के सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रही टीम में शामिल एक वरिष्ठ अधिकारी ने अपना नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि लिफ्ट के बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज से पीड़िता के बयान की पुष्टि होती है। इस फुटेज से तेजपाल की मुश्किलें और बढ़ सकती हंै। पीड़िता ने बुधवार को यहां एक मजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान दर्ज कराया था।

अधिकारी ने कहा कि होटल के ब्लॉक 7 की लिफ्ट के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे की सात नवंबर की फुटेज में यह साफ है कि लिफ्ट में कुछ गलत हुआ था। उन्होंने कहा कि फुटेज में शुरुआत में दिखाई देता है कि तेजपाल और पीड़िता हॉलीवुड अभिनेता रोबर्ट डी नीरो को उनके कमरे तक छोड़ते हैं। तेजपाल रात को लगभग नौ बजे लिफ्ट में युवा पत्रकार के साथ प्रवेश करते दिखाई देते हैं और इस दौरान उनके हाथ महिला के कंधे पर है।

अधिकारी ने कहा कि डेढ़ घंटे बाद रात करीब साढ़े 10 बजे तेजपाल भूतल पर उसी लिफ्ट के पास महिला को अंदर खींचते दिखाई दे रहे हैं। फुटेज में लिफ्ट लगभग दो मिनट बाद दूसरी मंजिल पर खुलती दिखाई देती है। उन्होंने कहा कि महिला अपने कपड़े ठीक करते हुए लिफ्ट से बाहर आती और सीढ़ियों से नीचे उतरती नजर आ रही है और तेजपाल पीड़िता का पीछा करते दिखाई देते हैं।

महिला पत्रकार ने तेजपाल पर आरोप लगाया है कि उसने तहलका की ओर से आयोजित ‘थिंकफेस्ट’ के दौरान सात और आठ नवंबर को उसका उत्पीड़न किया था। इस मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुए गोवा पुलिस ने तेजपाल के खिलाफ बलात्कार और शील भंग करने का मामला दर्ज किया है।

(भाषा)

 

 

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?