मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
26/11 आतंकी घटना भारत के सामने मौजूद खतरे की याद दिलाती है : नरेन्द्र मोदी PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Tuesday, 26 November 2013 16:34

अहमदाबाद। मुंबई आतंकवादी हमलों की छठी बरसी पर आज गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि 26-11 हमलों के असली साजिशकर्ताओं को सजा दिलाने में केंद्र सरकार की विफलता निराशाजनक है।

 

मोदी ने आज ट्विटर पर की गई टिप्पणियों में कहा, ‘‘26-11 हमलों के असली साजिशकर्ताओं को सजा दिलाने में केंद्र सरकार की विफलता निराशाजनक है। समय आ गया है जब केंद्र निर्णायक कार्रवाई करे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘26-11 हमला देश के सामने मौजूद सुरक्षा खतरों की ओर गंभीरता से ध्यान दिलाता है। हमें पीड़ितों के परिवारों को भरोसा देना चाहिए कि उनके प्रियजनों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा, यह समय एक अधिक मजबूत और सुरक्षित भारत के निर्माण का है।’’

प्रधानमंत्री पद के लिए भाजपा के उम्मीदवार ने आगे कहा, ‘‘मैं 26 नवंबर, 2008 को मुंबई में हुए कायरतापूर्ण आतंकवादी हमलों में मारे गए लोगों को याद करने में देश वासियों के साथ शामिल हूं। 26-11 हमलों की वजह से हमने अपने उन नायकों को खो दिया जिन्होंने अपने कर्तव्य को खुद से ऊपर


रखा और देश के लिए खुद को बलिदान कर दिया। उन्हें मेरा सलाम।’’

पांच साल पहले आज ही के दिन देश की वित्तीय राजधानी में लश्करे तैयबा के 10 आतंकवादियों ने कई जगहों पर हमले किए थे, जिसमें 166 लोग मारे गए। मरने वालों में कई पुलिसकर्मी, एनएसजी के कमांडो और कुछ विदेशी नागरिक शामिल थे। सुरक्षा बलों ने अपने अभियान में नौ आतंकवादियों को मार गिराया था।

हमलों के बाद जिंदा पकड़े गए एकमात्र पाकिस्तानी आतंकवादी अजमल आमिर कसाब को पिछले साल 21 नवंबर को पुणे के येरवदा जेल में फांसी दे दी गई।

भारत पाकिस्तान से 26-11 हमलों के आरोपियों के खिलाफ सुनवाई जल्द पूरी करने और गुनहगारों को सजा देने की मांग कर रहा है।

(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?