मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
आम आदमी पार्टी की कलह आई सतह पर, असंतुष्ट नेता के संवाददाता सम्मेलन में हंगामा PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Tuesday, 12 November 2013 19:47

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) के अंदर की कलह आज उस समय खुलकर सामने आ गई जब पार्टी के एक सदस्य ने यहां संगठन में ज्यादा लोकतांत्रिक तरीका अपनाने की मांग को लेकर संवाददाता सम्मेलन आयोजित किया लेकिन आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल के समर्थक आटोरिक्शा चालकों ने इसमें पहुंचकर उनसे सवाल किए।

पार्टी में लोकतंत्र के बारे में केजरीवाल को लिखे खुले पत्र का कोई जवाब नहीं मिलने से ‘नाराज’ आप सदस्य तथा दिल्ली में आटोरिक्शा चालकों के लिए काम करने वाले एनजीओ के सचिव राकेश अग्रवाल ने अपना तीन बिन्दु वाला मांगपत्र पेश करने के लिए संवाददाता सम्मेलन बुलाया था।

इस मांग पत्र में शासन एजेंडे को बताने के लिए एक टीम के तत्काल गठन, आंतरिक चुनाव कराकर पार्टी ढांचे को लोकतांत्रिक स्वरूप देने और इसका विकेन्द्रीकरण तथा वोट बैंक की राजनीति को छोड़ने के साथ सभी धर्म एवं जाति आधारित शाखाओं को खत्म करने की बातें शामिल हैं।

लेकिन अग्रवाल ने जैसे ही सम्मेलन शुरू किया, करीब 15 . 20 आटोरिक्शा चालक उनके एनजीओ पर धन की अनियमितताओं तथा उनके द्वारा उत्पीडन का आरोप लगाते हुए अंदर घुस आए और मांग की कि अग्रवाल उनके सवालों का जवाब दें।

अग्रवाल ने कहा कि उन्हें आमंत्रित नहीं किया गया है और उन्होने इन लोगों से स्थल से जाने को कहा।

इस घटनाक्रम के बीच, अग्रवाल ने संवाददाताओं


से कहा कि आप नेताओं द्वारा यह विरोध की किसी भी आवाज को बंद करने का प्रयास है।

उधर, भाजपा के नाराज कार्यकर्ताओं ने आज आगामी विधानसभा चुनावों के लिए उम्मीदवारों की सूची के कुछ नामों पर विरोध जताते हुए पार्टी की दिल्ली इकाई कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन के समय वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी कार्यालय के अंदर बैठक में सदस्यों से एकजुट रहने के लिए कह रहे थे।

सीलमपुर, बदरपुर, बल्लीमारान और नजफगढ़ सीटों से टिकट मांगने वाले पार्टी के नेताओं के समर्थक आज सुबह पंत मार्ग स्थित भाजपा कार्यालय के बाहर एकत्रित हुए और उन्होंने नारेबाजी करने के साथ झंड़े लहराकर उम्मीदवारों की सूची के कुछ नामों पर अपना विरोध जताया।

दिल्ली विधानसभा चुनावों के लिए नामांकन भरने के लिए शनिवार अंतिम दिन है लेकिन समाजवादी पार्टी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी अब भी उम्मीदवारों की सूची में विचार कर रही हैं।

सपा और राकांपा ने दिल्ली की सभी 70 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा की थी।

राकांपा दिल्ली के प्रमुख कंवर प्रताप सिंह ने कहा कि उम्मीदवारों की पहली सूची बुधवार को घोषित की जाएगी जबकि सपा ने कहा कि वह गुरूवार को पहली सूची घोषित करेगी।

(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?