मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
विदाई मैच में चमकदार प्रदर्शन नहीं कर पाए स्टार क्रिकेटर PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Tuesday, 12 November 2013 14:21

नई दिल्ली। ब्रायन लारा सहित दुनिया भर के क्रिकेट प्रशंसक चाहते हैं कि सचिन तेंदुलकर अपने विदाई टेस्ट मैच में बड़ा शतक बनाएं लेकिन इतिहास गवाह है कि कुछ अपवादों को छोड़कर दुनिया के अधिकतर स्टार क्रिकेटर अपने आखिरी मैच में चमकदार प्रदर्शन करने में नाकाम रहे।

 

तेंदुलकर वेस्टइंडीज के खिलाफ 14 नवंबर से अपना 200वां और आखिरी टेस्ट मैच खेलेंगे। लारा ने कहा कि तेंदुलकर को इन पांच दिनों का पूरा लुत्फ उठाना चाहिए और 400 रन बनाने की कोशिश करनी चाहिए लेकिन वेस्टइंडीज का यह दिग्गज बल्लेबाज मशहूर क्रिकेटरों की उस लंबी फेहरिश्त का हिस्सा हैं जो अपने आखिरी मैच में धमाकेदार प्रदर्शन नहीं कर पाए।

लारा ने कराची में 2006 में अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला था जिसमें उन्होंने शून्य और 49 रन बनाये। उन्होंने हालांकि 21 अप्रैल 2007 को इंग्लैंड के खिलाफ विश्व कप मैच खेलकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा। इस मैच में लारा 18 रन बनाकर रन आउट हो गए


थे और दर्शकों को मायूस होना पड़ा था।

अपने करियर में रनों का अंबार लगाने वाले सर डान ब्रैडमैन आखिरी टेस्ट पारी में शून्य पर आउट हो गये थे। यदि वह इस मैच में चार रन बना लेते तो उनका औसत 100 पर पहुंच जाता लेकिन एरिक होलीज ने उनकी गिल्लियां उड़ा दी। ब्रैडमैन इस मैच में केवल दो गेंद खेल पाए थे।

ब्रैडमैन के बाद क्रिकेट इतिहास में अपनी विशिष्ट पहचान बनाने वाले गारफील्ड सोबर्स भी अपने आखिरी टेस्ट मैच की पहली पारी में खाता नहीं खोल पाये जबकि दूसरी पारी में उन्होंने 20 रन बनाए। दुनिया के एक अन्य दिग्गज ऑलराउंडर इयान बाथम अपने आखिरी टेस्ट मैच दो और छह रन ही बना पाए जबकि पूरे मैच में उन्होंने केवल पांच ओवर गेंदबाजी की।

(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?