मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
बसपा सांसद धनंजय सिंह का दावा, नौकरानी की हत्या के मामले में फंसाया गया PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Monday, 11 November 2013 21:52

नई दिल्ली। अपनी घरेलू नौकरानी की हत्या के सिलसिले में पत्नी जागृति के साथ गिरफ्तार किए गए बसपा सांसद धनंजय सिंह ने आज दिल्ली की एक अदालत में दावा किया कि उन्हें मामले में फंसाया गया है और वह अपनी पत्नी के अप्रत्याशित और हिंसक व्यवहार के कारण उनसे अलग रह रहे थे।

उत्तर प्रदेश के जौनपुर से लोकसभा सदस्य धनंजय ने अपनी जमानत अर्जी में कहा कि मामले में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार नौकरानी को 1 नवंबर से कथित तौर पर यातना देने की शुरूआत हुई और उसकी कथित तौर पर 4 नवंबर को मृत्यु हो गई। इस अवधि में वह अपने लोकसभा क्षेत्र में थे।

धनंजय ने कहा कि उन्होंने यहां एक अदालत में तलाक के लिए पहले ही आवेदन दे रखा है क्योंकि यहां आरएमएल अस्पताल में डेंटल सर्जन के तौर पर कार्यरत उनकी पत्नी को बहुत गुस्सा आता है और वह हिंसक भी हो जाती हैं।

सांसद ने कहा कि पिछले साल मई में उन्होंने अपनी पत्नी के व्यवहार और मानसिक स्तर में बदलाव के लिए डॉक्टर से परामर्श लिया था लेकिन जागृति ने डॉक्टर की बताईं दवाएं


जारी नहीं रखीं।

धनंजय के मुताबिक वह अलग रह रहे थे और उनके 175, साउथ एवेन्यू स्थित सरकारी आवास पर उनकी पत्नी रहती थीं जहां काम कर रहे नौकर जागृति के नियंत्रण में ही काम करते थे। वह केवल उनकी पगार देते थे।

बसपा सांसद ने बताया कि वह जब अपने लोकसभा क्षेत्र से दिल्ली लौटे तो उन्होंने मामले की जानकारी पुलिस को दी। धनंजय की दलील है कि जिस घर में घटना घटी, वहां उनकी लगातार गैर-मौजूदगी उनके इसमें शामिल नहीं होने की तरफ पर्याप्त तौर पर इशारा करती है।

धनंजय ने वकील एस पी एम त्रिपाठी और संतोष पांडेय के माध्यम से अपनी अर्जी दाखिल की।

मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट गोमती मनोचा ने पुलिस को जमानत अर्जी पर जवाब देने का निर्देश दिया और सुनवाई के लिए 15 नवंबर की तारीख तय की। उन्होंने आज धनंजय और जागृति को 15 नवंबर तक की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?