मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
मुजफ्फरनगर हिंसा: आठ गिरफ्तार, 15 के विरूद्ध मामला दर्ज PDF Print E-mail
User Rating: / 1
PoorBest 
Thursday, 31 October 2013 11:24

मुजफ्फरनगर (उत्तर प्रदेश)। मुजफ्फरनगर के बुढाना क्षेत्र में भड़की ताजा हिंसा के मामले में पुलिस ने आठ लोगों को गिरफ्तार कर लिया है

और 15 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। जिले के तनावग्रस्त इलाके में अर्द्धसैनिक बल गश्त लगा रहे हैं।

 

जिले के बुढाना गांव में कल रात भड़की ताजा सांप्रदायिक हिंसा में तीन लोग मारे गए।

इससे पहले इसी जिले में पिछले महीने हुए सांप्रदायिक दंगों में 62 लोगों की मौत हुई थी।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस संबंध में आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया और पूरे जिले की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है।

मुजफ्फरनगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एच एम सिंह ने बताया कि बुढाना पुलिस स्टेशन में 15 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

जिलाधिकारी कौशल राज ने कल बताया था कि मुहम्मदपुर रायसिंह गांव में दो समुदाय के सदस्यों के बीच हुए संघर्ष में अफरोज (20), मेहरबान (21) और अजमल (22) की पीट पीट कर हत्या कर दी गई, जबकि एक व्यक्ति घायल हो गया।

सूत्रों ने बताया कि ये पीड़ित हालिया दंगों के बाद से राहत शिविरों में रह रहे थे।

यह ताजा घटना इलाके में व्याप्त सांप्रदायिक तनाव का नतीजा प्रतीत होती है।


मुजफ्फरनगर जिले की जिन जगहों पर बीते माह सांप्रदायिक हिंसा हुई थी, उनमें मोहम्मदपुर रायसिंह गांव भी था।

सूत्रों ने बताया कि कल मोहम्मदपुर रायसिंह गांव के लोगों का संघर्ष हुसैनपुर गांव के लोगों के साथ हुआ, जिसमें तीन युवाओं की जान चली गई।

सूत्रों ने बताया कि दोनों गांवों के बीच एक किलोमीटर की दूरी है, लेकिन उनके खेत पास में ही स्थित हैं। उन्होंने बताया कि कुछ लोगों ने अफवाह फैला दी कि पांच व्यक्ति मोहम्मदपुर रायसिंह गांव में रहने वाले एक समुदाय के सदस्यों पर हमले की साजिश रच रहे हैं।

पुलिस ने बताया कि इस बीच हसनपुरकर-लिसार सड़क पर कल शाम कुछ अज्ञात हमलावरों ने 22 वर्षीय रीना देवी की गोली मारकर हत्या कर दी और उसके पति 25 वर्षीय राजेंदर को गोली मार कर घायल कर दिया।

उन्होंने बताया कि यह दंपति शामली जिले से अपने गांव लिसार लौट रहे थे, तभी रास्ते में यह घटना घटी।

पुलिस अभी इस बात की जांच कर रही है कि यह मामला जिले में भड़की ताजा सांप्रदायिक हिंसा से तो संबंधित नहीं है।

(भाषा)

 

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?