मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
बारिश व बाढ़ से आंध्र और ओड़िशा में 45 की मौत PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Sunday, 27 October 2013 09:07

हैदराबाद/भुवनेश्वर। तेज बारिश और बाढ़ के कारण आंध्र प्रदेश और ओड़िशा में 45 लोगों की मौत हो गई है। करीब 30 जिलों में सैकड़ों गांव पानी में डूब गए हैं। इलाके में सड़क व रेल परिवहन बाधित हुआ है। पश्चिम बंगाल के दक्षिणी इलाके में भी भारी बारिश के कारण तीन लोगों की मौत हुई है और कोलकाता व आसपास के इलाकों में सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है।

बारिश और बाढ़ से आंध्र प्रदेश में काफी तबाही हुई है। वहां पिछले चार दिनों में 29 लोगों की मौत हुई है। राज्य को फिलहाल बारिश से राहत नहीं मिलने वाली है। मौसम विज्ञान विभाग ने अगले 48 घंटों में राज्य में भारी बारिश की चेतावनी दी है। ओड़िशा के कई जिलों और दक्षिण बंगाल में भी यही स्थिति रहेगी। ओड़िशा में बाढ़ से संबंधित घटनाओं में 16 लोगों की मौत हुई है। वहां बड़ी नदियों में पानी घटने के बावजूद हालात चिंताजनक बने हुए हैं।

आंध्र प्रदेश के आपदा प्रबंधन आयुक्त टी राधा ने कहा कि राज्य में 16 जिलों के 3230 गांव भारी बारिश के कारण बुरी तरह प्रभावित हुए हैं और 6600 घर क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि 405 लघु सिंचाई टैंक और 935 किलोमीटर सड़क क्षतिग्रस्त हुई है। कई जिलों की नहरों में दरार आई है। आंध्र प्रदेश के कृषि मंत्री कन्ना लक्ष्मी नारायण ने कहा कि राज्य के निचले इलाकों से 72 हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। उन्होंने कहा कि 6.77 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में फसलें तबाह हुई हैं। आंध्र प्रदेश सरकार ने नौ जिलों में 178 राहत शिविर स्थापित किए


हैं। इनमें 36 श्रीकाकुलम जिले में हैं। आंध्र प्रदेश में सबसे ज्यादा मौतें प्रकाशम जिले में हुई हैं। यहां वर्षाजनित घटनाओं में छह लोगों की मौत हुई है। गुंटूर में पांच, महबूबनगर में चार, हैदराबाद और कुरनूल में तीन-तीन, विजयनगरम, पूर्वी गोदावरी, नलगोंडा और वारंगल जिले में दो-दो लोग मौत का शिकार बने हैं। विशाखापत्तनम जिले से दो लोगों के लापता होने की खबर है।

ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की तरफ से राज्य के हालात की समीक्षा करने के बाद विशेष राहत आयुक्त पीके महापात्र ने भुवनेश्वर में संवाददाताओं से कहा कि ओड़िशा में भद्रक, जाजपुर और नयागढ़ जिले से दो-दो लोगों के मरने की खबर है। बुरी तरह प्रभावित गंजाम जिले में छह लोगों की मौत हुई है।

जगतसिंहपुर में चार लोगों की मौत हुई है। इन सभी की मौत दीवार ढहने या डूबने से हुई। अधिकारियों ने कहा कि ओड़िशा के 13 जिलों के 2276 गांवों के 5.32 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं जबकि 1.47 लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है।

मौसम विज्ञान विभाग का कहना है कि अगले 48 घंटों में कोरापुट, मलकानगिरी, नवरंगपुर, रायगढ़ा, गजपति और कालाहांडी जिलों में भारी से काफी अधिक बारिश होगी जबकि उत्तर ओड़िशा के एक-दो जगहों पर भारी बारिश होने की संभावना है।

 

(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?