मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
सीबीआइ और केंद्र की जुगलबंदी पर बिफरे नरेन्द्र मोदी PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Sunday, 27 October 2013 08:56

उदयपुर। कोयला घोटाले में शनिवार को सीबीआइ पर कोई कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि ऐसा लगता है कि उसे सांप सूंघ गया हो। इस घोटाले में पूर्व कोयला सचिव भी प्रधानमंत्री पर ऊंगली उठा चुके हैं। राजनीतिक लाभ के लिए सीबीआइ का दुरुपयोग करने का आरोप लगाते हुए भाजपा के प्रधानमंत्री पद के दावेदार ने कहा कि इसके विपरीत अगर उनके या अन्य भाजपा नेताओं के खिलाफ एक भी आरोप लगा होता तो सीबीआइ उन्हें सलाखों के पीछे भेजने में एक मिनट का भी समय नहीं लगाती। लेकिन उसने प्रधानमंत्री के मामले में कुछ नहीं किया।

उन्होंने यहां एक रैली में कहा-मैं पूछना चाहता हूं कि दिल्ली सरकार को बचाने के लिए दिन-रात खेल कौन खेल रहा है। प्रधानमंत्री कार्यालय के खिलाफ आरोप लगाए गए हैं। कोयला घोटाले में एक वरिष्ठ अधिकारी ने सीधे प्रधानमंत्री के खिलाफ आरोप लगाए हैं। अगर वसुंधरा, नरेंद्र मोदी, शिवराज सिंह या रमन सिंह के खिलाफ इस तरह के आरोप लगे होते तो सीबीआइ उन्हें मिनटों में सलाखों के पीछे डाल देती। लेकिन अब सीबीआइ को जैसे सांप सूंघ गया हो।

गुजरात के मुख्यमंत्री ने केंद्र को आगाह किया कि चुनाव में मात्र छह महीने बचे हैं और चुनाव से पहले बचे हुए 200 दिनों में पार्टी मौजूदा शासन के कुकृत्यों को बेनकाब कर देगी। मोदी ने राहुल गांधी को ‘शहजादा’ कहकर धर्मनिरपेक्षता की नसीहतें देने के लिए आड़े हाथ लिया। मुजफ्फरनगर दंगों के पीड़ितों से पाक एजंसियों के संपर्क करने संबंधी कांगे्रस महासचिव की टिप्पणी का जिक्र करते हुए उन्होंने दावा किया कि यह जानकारी कांगे्रस नेता को उस पुलिस अधिकारी से हुई बातचीत से मिली जो राजस्थान से कांगे्रस का टिकट चाह


रहा है।

राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि आपके राज्य में शहजादे आए थे। वे क्या बोलकर गए इसे कांगे्रस नेता सहित कोई नहीं समझ पाया। उन्होंने अशोक गहलोत सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि उनकी सरकार के कार्यकाल में 25 दंगे हुए।

उन्होंने राजनीतिक लाभ के लिए सीबीआइ के दुरुपयोग और राजनीतिक विरोधियों को निशाना बनाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि विरोधियों की आवाज को कुचलने व उन्हें सलाखों के पीछे डालने के लिए सीबीआइ का दुरुपयोग हो रहा है। मोदी ने सरकार पर आरोप लगाया कि वह प्याज की बढ़ती हुई कीमतों पर लगाम कसने में नाकाम रही है। उन्होंने महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश व कर्नाटक की कांगे्रस शासित सरकारों पर सब्जी के दाम बढ़ाने के आरोप लगाए। इन तीनों राज्यों में ही देश का अधिकतर प्याज उत्पन्न होता है।

मुजफ्फरनगर दंगों के बारे में राहुल की टिप्पणी का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा-मुझे पता चला है कि राजस्थान पुलिस का एक अफसर कांगे्रस का टिकट पाने के लिए घूम रहा है। उसने शहजादे को एक कहानी बताई और उन्होंने यह कहानी पूरी दुनिया को बता दी। क्या आप देश की बागडोर ऐसे लोगों को सौंपेंगे। मुझे यह तय नहीं करना है और न ही वसुंधरा को। आपको यह तय करना है कि कैसी सरकार बने। यह आपके हाथ में है। उन्होंने राहुल पर आरोप लगाया कि वे अपनी दादी व पिता की कहानियां सुनाकर जनसभाओं में पारिवारिक धारावाहिक चला रहे हैं।

(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?