मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के सम्मान में चीन ने बिछाये पलक पांवड़े PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Wednesday, 23 October 2013 22:54

बीजिंग। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के स्वागत-सत्कार में चीनी नेताओं ने पलक पांवड़े बिछा दिए और उनके सम्मान में आज दी गयी दावत में बॉलीवुड गीतों और पाश्चात्य संगीत के साथ चीन के लजीज व्यंजन पेश करते हुए दोस्ती का संदेश दिया।

दोनों देशों ने जहां एक दूसरे की सीमाओं से गुजरने वाली नदियों पर सहयोग को मजबूत करने की सहमति समेत नौ समझौतों पर दस्तखत किए वहीं सिंह के सम्मान में प्रधानमंत्री ली क्विंग द्वारा आयोजित प्रीतिभोज के दौरान चीन के सैन्य बैंड ने पार्श्व में ‘फ्लोइंग रिवर’ की धुन बजाई।

इसके अलावा संगीत प्रेमी भारतीयों को मंत्रमुग्ध करने के लिए हिंदी फिल्मों के कुछ पुराने लोकप्रिय गीत भी बजाए गए, जिनमें ‘मेरा नाम चिन चिन चू’, ‘बार बार देखो’, ‘गोरे गोरे’ आदि शामिल हैं।

इन सबके साथ ‘रेड डेट्स फॉर फेमिली’ और ‘अवर लाइफ फुल ऑफ सनशाइन’ की स्वरलहरियां भी समारोह के आकर्षण का केंद्र रहीं।

दावत के जायकेदार पकवानों में चीन की कुछ खास डिश मसलन स्पंज बैंबू, मशरूम सूप और बीन कर्ड


परोसी गईं। सिंह की यात्रा में यूं तो सीमा जैसे सामरिक मुद्दे हावी रहे लेकिन कई मायने में इसमें असाधारण अनौपचारिकता भी नजर आई।

यात्रा के दौरान नेताओं से मुलाकातों के बीच ली और राष्ट्रपति शी झिनपिंग द्वारा दिए गए भोज भी शामिल रहे। शी द्वारा आयोजित प्रीतिभोज में चीन की तीन भारतनाट्यम नृत्यांगनाओं ने अपनी कला की प्रस्तुति दी।

पूर्व प्रधानमंत्री वेन च्याबाओ भी सिंह की मेजबानी कर रहे हैं। चीन में किसी सेवानिवृत्त नेता द्वारा विदेशी मेहमान का मेजबान होना बड़ा दुर्लभ माना जाता है। अधिकारियों के मुताबिक अपने करीब एक दशक लंबे कार्यकाल में दोनों नेता कई बार मुलाकात कर चुके हैं।

57 वर्षीय ली ने आज सिंह को प्रसिद्ध फॉरबिडन सिटी की सैर कराकर भी एक अनौपचारिक अभिव्यक्ति का प्रदर्शन किया जो चीन के नेताओं द्वारा विरले ही देखने को मिलता है।

(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?