मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
दो मैचों के आधार पर इशांत को बाहर नहीं कर सकते: विराट कोहली PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Wednesday, 16 October 2013 11:15

जयपुर। भारत के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली ने मंगलवार को आलोचना से घिरे तेज गेंदबाज इशांत शर्मा का बचाव करते हुए कहा कि दो मैचों में खराब प्रदर्शन के आधार पर उन्हें बाहर नहीं किया जा सकता।
कोहली ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि किसी खिलाड़ी को दो मैचों में खराब प्रदर्शन के कारण बाहर किया जा सकता है। इशांत ने चैंपियंस ट्राफी और वेस्ट इंडीज दौरे पर अच्छा प्रदर्शन किया। इंग्लैंड में उनका प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा। किसी को इस तरह से खारिज नहीं किया जा सकता।’
इशांत ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 मैच में चार ओवर में 52 रन दिए और उन्हें कोई विकेट नहीं मिला जबकि पहले वनडे में उन्होंने सात ओवरों में 56 रन दे डाले और उनकी झोली खाली रही। यह पूछने पर कि क्या इशांत को बाहर किया जा सकता है, कोहली ने दूसरे मैच से पहले प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘टी20 में सभी गेंदबाजों की धुनाई होती है। आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की भी हुई लेकिन उन्होंने अपने गेंदबाजों को अगले मैच में बाहर नहीं किया। यह मेरी राय है लेकिन मैं कप्तान या


कोच नहीं हूं जो चयन मामलों पर फैसला ले।’
कोहली ने स्वीकार किया कि शार्टपिच गेंदों की बजाय उन्हें आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की रफ्तार से चौकन्ना रहना होगा। उन्होंने कहा कि उनकी रफ्तार हमारे जेहन में है लेकिन शार्टपिच गेंद तो कोई भी फेंक सकता है। यह आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की ही खासियत नहीं है। श्रीलंका और पाकिस्तान के गेंदबाज भी शार्टपिच गेंद फेंकते हैं। मैंने हमेशा कहा है कि यदि आप आउट होने के तरीके देखें तो स्लिप में कैच, पगबाधा या बोल्ड अधिक होते हैं। बहुत कम बल्लेबाज शार्टपिच गेंदों पर आउट होते हैं।’
पहले मैच में मिली 72 रन से हार को भी वे अधिक तवज्जो नहीं देना चाहते। उन्होंने कहा, ‘यह खराब दिन में से एक था। हमने फील्डिंग अच्छी की लेकिन गेंदबाजी अच्छी नहीं थी। हमने निर्णायक मौकों पर विकेट भी खोए। मैं अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल सका।’
(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?