मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
मध्य फिलीपीन में जबरदस्त भूकंप, 32 लोगों की मौत PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Tuesday, 15 October 2013 10:31

मनीला। मध्य फिलीपीन में आज सुबह आए 7.2 तीव्रता के भूकंप से कम से कम 32 लोगों की मौत हो गई जिससे कई इमारतें और ऐतिहासिक चर्च ढह गए।
फिलीपीन के सबसे पुराने चर्च का घंटाघर भी ध्वस्त हो गया।
भूकंप स्थानीय समय के अनुसार सुबह आठ बज कर 12 मिनट पर आया। इसका केन्द्र 33 किलोमीट की गहराई में बोहोल द्वीप के कारमेन शहर में स्थित था। कारमेन शहर में अनेक इमारतें ढह गईं। सड़कों में दरारें आ गईं और पुल गिर गए।
भूकंप के मुख्य झटके के बाद लगातार अन्य झटके भी आते रहे । इससे डरे सहमे लोग घरों, इमारतों और अस्पतालों से बाहर निकल आए ।
प्रांतीय आपदा प्रबंधन अधिकारी नील सैंशेज ने कहा कि सेबू में भगदड़ में पांच लोगों की मौत हो गई।
सेबू शहर में व्यापक नुकसान पहुंचा। बोहोल के निकट बसे इस घनी आबादी वाले शहर में कुछ जगहों पर छत गिरने की घटनाओं में कई लोगों की मौत हो गई। प्रांतीय आपदा प्रबंधन अधिकारी नील सांचेज ने बताया कि भूकंप से सेबू जिम में भगदड़ मच गई। वहां लोग सरकारी नकद सहायता हासिल करने के लिए कतारबंद थे। इस भगदड़ में पांच लोगों की मौत हो गई जबकि आठ अन्य घायल हो गए।
एक निकटवर्ती शहर में 18 लोग उस वक्त घायल हो गए जब वह भूकंप से बुरी तरह हिल रही एक इमारत से निकलने के लिए आपाधापी करने लगे।
अधिकारियों ने बताया कि बोहाल में कम से कम 16 लोगों की मौत हुई जबकि सेबू में 15 लोग भूकंप के कहर के शिकार हुए। ढेर सारे लोग घायल हैं।
बोहोल प्रांतीय सरकार की एक कर्मचारी विल्मा योरोंग ने फोन पर एपी को बताया, ‘‘हम इमारत से भागे, और बाहर हम पेड़ों से लिपट गए क्योंकि झटके बहुत जबरदस्त थे।’’
विल्मा ने कहा, ‘‘जब जमीन का हिलना बंद हुआ, मैं सड़क की तरफ भागी और वहां मैंने कई लोगों को घायल देखा। कुछ कह रहे थे कि उनका चर्च ढह गया।’’
भूकंप का दहशत लोगों पर छा गया। विल्मा और अन्य लोग एक पहाड़ी की तरफ दौड़े क्योंकि उन्हें अंदेशा था कि भूकंप के बाद सूनामी आ सकती है।
विल्मा ने बताया, ‘‘भूकंप के कुछ ही मिनट बाद लोग पहाड़ी पर जाने के लिए एक दूसरे को धक्के दे रहे थे।’’  बहरहाल, भूकंप जमीन में केन्द्रित था


और इससे कोई सूनामी नहीं आई।
ईद उल अजहा की वजह से आज कार्यालय और स्कूल बंद थे। संभवत:, इससे बहुत से लोगों की जान बच गई।     
सिविल डिफेंस के प्रवक्ता मेजर रीनाल्डो बालिडो ने बताया कि बोहोल में चार लोग मारे गए और सेबू प्रांत में 15 लोगों की जान चली गई ।
बोहोल के दक्षिण पश्चिम में सिकिजोर द्वीप पर एक व्यक्ति की मौत हो गई और 33 अन्य घायल हो गए ।
सेबू शहर में पांच अन्य लोगों की उस समय मौत हो गई जब वहां मछली पकड़ने वाला एक केंद्र ढह गया । दो अन्य लोगों की मौत उस समय हुई जब सेबू प्रांत के मंडाऊ स्थित एक बाजार में एक छत गिर पड़ी। इस घटना में 19 लोग घायल भी हुए हैं। इसके अलावा शहर में एक इमारत के गिर जाने से एक महिला की मौत हो गई।
टीवी चैनलों पर प्रसारित तस्वीरों में नष्ट हुई दो मंजिला एक इमारत को दिखाया गया और खबरों में कहा गया कि 8 महीने के एक बच्चे तथा एक अन्य व्यक्ति को जीवित बाहर निकाल लिया गया।
सेबू के मेयर के सहायक ने कहा, ‘‘यह खुशकिस्मती की बात है कि अवकाश की वजह से बहुत से कार्यालय और स्कूल बंद हैं ।’’ मेयर के सहायक ने कहाकि अस्पतालों से मरीजों को खुले स्थानों पर बाहर निकाल लिया गया, ‘‘लेकिन इमारतों के सुरक्षित घोषित होते ही हम उन्हें जल्द से जल्द वापस भेज देंगे।’’
भूकंप से देश के ऐतिहासिक चर्चों को काफी नुकसान हुआ है । सेबू में स्थित देश के सबसे पुराने चर्च बैसिलिका ऑफ द होली चाइल्ड का घंटाघर ढह गया ।
मनीला के करीब 570 किलोमीटर दक्षिण में स्थित सेबू प्रांत में 26 लाख से अधिक की आबादी रहती है। पास के बोहोल में 12 लाख लोग रहते हैं और यह अपने तटों तथा द्वीप रिजॉर्ट की वजह से विदेशी सैलानियों का एक पसंदीदा स्थल है।
क्षेत्रीय सैन्य कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रॉय देवेरातुर्दा ने कहा कि उन्होंने भूकंप से निपटने के लिए छुट्टी से सैनिकों को वापस बुला लिया है ।
पिछले साल मध्य फिलीपीन में नीग्रोज द्वीप के निकट आए 6.9 तीव्रता के भूकंप से करीब 100 लोगों की मौत हो गई थी ।
(एपी)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?