मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
आसाराम के बेटे ने विज्ञापन जारी कर कहा कि वह भागेगा नहीं PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Thursday, 10 October 2013 15:01

सूरत। प्रवचनकर्ता आसाराम के बेटे नारायण साईं ने आज स्थानीय समाचार पत्रों में विज्ञापन जारी कर कहा कि वह निर्दोष है और भागेगा नहीं।


यौन उत्पीड़न के एक मामले में आरोपी साईं से पूछताछ के लिए पुलिस ने उनके खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी कर रखा है।
इस विज्ञापन में यह भी कहा गया है कि साईं इस मामले में कानूनी रास्ता अपनाएंगे।
सूरत पुलिस ने कल उनसे पूछताछ के लिए पिता पुत्र द्वारा गुजरात में संचालित विभिन्न आश्रमों को नोटिस जारी किया था।
पुलिस को अभी तक साईं के ठिकाने का पता नहीं चल पाया है और इस बारे इस विज्ञापन में भी कोई जानकारी नहीं दी गई है। साईं के वकील गौतम देसाई के जरिए जारी इस विज्ञापन में कहा गया है, ‘‘हमारे मुवक्किल कहीं गए नहीं हैं और वह भागेंगे नहीं।’’
इस विज्ञापन में आरोप लगाया गया है कि आसाराम के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी मनगढ़ंत है और शिकायतकर्ता ने इसमें तथ्यों से छेड़छाड़ की है।
इसके साथ इसमें कहा गया है कि उनके मुवक्किल अपनी रक्षा के लिए कानूनी लड़ाई लड़ेंगे।
दरअसल दो बहनों ने साईं और उनके पिता के खिलाफ यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज कराया था और पुलिस ने इस मामले में पूछताछ के लिए साईं के खिलाफ कल समन जारी किया था।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि


साईं को तत्काल पुलिस के समक्ष पेश होने के लिए उनके आश्रम को नोटिस दिया गया है।
दोनों बहनों में से छोटी बहन ने आसाराम के बेटे नारायण सार्इं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराकर आरोप लगाया था कि 2002 से 2005 के बीच जब वह नारायण के सूरत स्थित आश्रम में रह रही थी, तब साईं ने कई बार उसका यौन उत्पीड़न किया था।
जबकि बड़ी बहन का आरोप था कि 1997 से 2006 के बीच जब वह अहमदाबाद के बाहरी इलाके में स्थित आसाराम के आश्रम में रह रही थी तब आसाराम ने कई बार उसका यौन उत्पीड़न किया।
नारायण साई की तलाश के लिए बनायी गयी सूरत पुलिस की छह टीमों ने दावा किया है कि उन्हें मामले से जुड़े अहम सुराग मिले हैं। पुलिस ने कल पूरे आश्रम की वीडियोग्राफी शुरू की और आश्रम के परिसर की तलाशी भी ली थी।
सूरत पुलिस ने हाल ही में दो शिकायतें दर्ज की थी, जिनमें एक आसाराम के खिलाफ है और दूसरी नारायण साई के खिलाफ है। इन शिकायतों में उनके खिलाफ बलात्कार, यौन उत्पीड़न, गैर-कानूनी तरीके से बंधक बनाने सहित कई आरोप हैं।
(भाषा)

 

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?