मुखपृष्ठ
Bookmark and Share
तेलंगाना विवाद : जगनमोहन रेड्डी को अनशल स्थल से अस्पताल ले जाया गया PDF Print E-mail
User Rating: / 0
PoorBest 
Thursday, 10 October 2013 08:50

हैदराबाद। आंध्र प्रदेश का बंटवारा करने के केन्द्रीय मंत्रिमंडल के फैसले को वापस लिए जाने की मांग को लेकर पिछले दिनों से भूख हड़ताल कर रहे वाईएसआर कांग्रेस के प्रमुख वाई एस जगनमोहन रेड्डी को पुलिस ने वहां से हटा दिया। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
पुलिस उपायुक्त (पश्चिमी क्षेत्र) वी सत्यनारायण ने बताया, ‘‘हमने उन्हें उठा लिया और अब निजाम आयुर्विज्ञान संस्थान (निम्स) ले जा रहे हैं।’’
जगन यहां के पॉश इलाके जुबली हिल्स स्थित अपने ‘लोटस पौंड’ आवास पर भूख हड़ताल कर रहे थे।
पुलिस का एक दल रात करीब 11 बजे जगन के घर पहुंचा और उनके समर्थकों द्वारा लगाए गए अवरोधकों को ध्वस्त कर दिया। इसके बाद जगन को पुलिस ने बेझिझक उठाकर एंबुलेस में रख दिया। इसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया।
इस दौरान जगन के समर्थकों की ओर से कोई प्रतिरोध नहीं किया गया। जगन की अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल का आज पांचवां दिन था। पार्टी ने अपने नेता की गिरती सेहत पर चिंता जताई थी।
पार्टी के एक वरिष्ठ नेता


ने कहा, ‘‘आज जगन का मुआयना करने वाले डाक्टरों ने उन्हें अपना अनशन समाप्त कर देने की सलाह दी क्योंकि उनका शूगर लेवल गिरता जा रहा था।’’
इससे पहले पार्टी के वरिष्ठ नेता कोनाताला रामकृष्ण ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमारे पार्टी अध्यक्ष वाईएस जगन मोहन रेड्डी का अनशन आज पांचवें दिन में प्रवेश कर गया। उनका शर्करा का स्तर घट रहा है और डाक्टरों ने उन्हें अनशन समाप्त करने की सलाह दी है।’’
कोनाताला ने कहा कि जगन ने सभी पार्टियों से राज्य को अखंड रखने के लिए हाथ मिलाने की अपील की है क्योंकि ‘‘कांग्रेस और सोनिया गांधी ने राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए’’ अल्पकालिक राजनैतिक लाभ के लिए बंटवारे का फैसला किया।
जगन ने पांच अक्तूबर को अपने आवास पर अखंड आंध्र प्रदेश के लिए अनिश्चितकालीन अनशन शुरू किया था।
(भाषा)

आपके विचार

 
 

आप की राय

सोनिया गांधी ने आरोप लगाया है कि 'भाजपा के झूठे सपने के जाल में आम जनता फंस गई है' क्या आप उनकी बातों से सहमत हैं?